CVV क्या है? CVV Full Form और इसकी पूरी जानकारी - FlyHindi

नमस्ते दोस्तों, क्या आप जानते है, कि CVV क्या है, CVV की Full Form क्या होती है? कई बार आपने बैंक से सम्बन्धित विज्ञापन में भी CVV के बारे में सुना होगा कि अपने डेबिट या क्रेडिट कार्ड का CVV Code या बैंक के दस्तावेज से सम्बन्धित जानकारी किसी से शेयर ना करें। इसके अलावा यदि आपने कभी किसी डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड से ऑनलाइन पेमेंट करा होगा तो भी आपसे आपके Debit/Credit Card का CVV नम्बर पूछा जाता है।

क्या यह आप जानते है, कि CVV Kya Hota Hai और Debit/Credit Card में CVV Code कहाँ होता है? अगर नहीं तो यह आर्टिकल आपके लिए ही है। क्योंकि आज के इस आर्टिकल में हम आपको CVV Code से जुडी सम्पूर्ण जानकारी देंगे जैसे कि CVV CODE क्या है, CVV Code क्या काम आता है?

आज के इस डिजिटल जमाने में सभी काम ऑनलाइन होते है। इनसे एक ओर जहाँ हमारे समय की बचत होती है और काम सुविधाजनक रूप से हो जाते है, वहीं दूसरी ओर साइबर क्राइम और ऑनलाइन धोखाधड़ी जैसी घटनाएँ भी बढ़ती जा रही है। बैंको ने अपने कस्टमर को इसी धोखाधड़ी से बचाने के लिये एक तरह का सिक्योरिटी कोड देते है, जो कि उनके Debit या Credit Card में अंकित होता है। जब कभी आप अपने Debit या Credit Card से ऑनलाइन पेमेंट करते है, तो आपसे आपका CVV Number माँगा जाता है। बिना इसके आप किसी Debit या Credit Card से कोई भी ऑनलाइन पेमेंट नहीं कर सकते हैं

यदि आपका CVV CODE किसी गलत व्यक्ति को पता लग जाता है, तो वह इसका दुरूपयोग कर सकता है। इसलिए बैंक अपने कस्टमर्स को यह सलाह देते कि अपना CVV Number किसी के साथ शेयर ना करें। यदि आप ऐसा करते है, तो इसका आपको बहुत बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है चलिये जानते है कि CVV क्या होता है, यह किस काम आता है और इससे सम्बन्धित किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। अब चलिए जानते है, कि CVV Number Kya Hai.


CVV क्या है?(What is CVV in hindi)


CVV Kya Hai
CVV CODE

CVV को CSC और CVC के नाम से भी जाना जाता है। यह डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड पर लिखे हुए Code होते है। CVV Code डेबिट या क्रेडिट कार्ड के पीछे एक मैग्निटिक स्ट्रिप पर मुद्रित अंतिम तीन अंक होते है। आमतौर पर CVV कोड 3 अंकों का होता है, लेकिन किसी कार्ड में यह 4 अंकों का भी हो सकता है।  सामान्यतः Visa, MasterCard, Bank Card आदि कार्ड्स पर यह 3 अंकों का होता है, परन्तु अमेरिकन एक्सप्रेस (AMEX) कार्ड पर अंकित CVV Number की संख्या 4 अंकों की होती है।

जब कभी आप अपने डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड से ऑनलाइन पेमेंट करते हैं, जो इस बात का प्रमाण होता है, कि किए जा रहे पेमेन्ट के लिए कार्डधारक स्वयं जिम्मेदार है। CVV Code OTP की तरह ही काम करता है, लेकिन OTP हर बार चेंज होता है, जबकि CVV Code वही रहता है।

अगर आप डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड से ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करते हैं, तो इसमें आपको CVV Number की आवश्यकता पड़ती है। यह कोड ऑनलाइन ट्रांजेक्शन को सिक्योर बनाता है। ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के अलावा नेट बैंकिंग का पासवर्ड चेंज करते है, तो भी यह आवश्यक होता है। बिना CVV Code के आप यह काम नहीं कर सकते है। 


CVV की FULL FORM (CVV Full Form In Hindi)

CVV की Full Form "फॉर्म कार्ड वेरिफिकेशन वैल्यू" (Card Verification Value) व CSC के रूप में इसकी Full Form "Card Security Code" होती है। कई लोग CVV Number को CVC भी कहते हैं। CVC की Full Form "कार्ड वेरिफिकेशन कोड" (Card Verification Code) भी कहते है। जबकि CVV, CVC और CSC का हिन्दी अर्थ ''कार्ड जाँच मूल्य", ''कार्ड सत्यापन कोड" तथा ''कार्ड सिक्यूरिटी कोड" होता है।


CVV का इतिहास

CVV Number का आविष्कार सन 1995 में UK के Michael Stone के द्वारा किया गया था। जब यह कोड बनाये गए थे, तब यह कोड 11 अंकों के होते थे, लेकिन वर्तमान बाद में इन्हें केवल 3 अंकों तक ही सीमित कर दिया गया। ‘एसोसिएशन ऑफ पेमेंट क्लीयरिंग सर्विसेज’ ने CSC की जांच करने के बाद इसे अपने सिक्योरिटी सिस्टम में अपना लिया।


Debit Card में CVV Code कहाँ होता है? (CVV in Debit Card)

जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया CVV Number आपके डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड के पिछले हिस्से में लिखा होता है। यह 3 अंकों का एक कोड होता है। यह कोड इटैलिक स्टाइल में होता है।

क्योंकि सीवीवी नम्बर आपके कार्ड की सेक्युरिटी से सम्बंधित है, इसलिए CVV Code डेबिट या क्रेडिट कार्ड के पिछले हिस्से में लिखा होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि अगर आप किसी सार्वजनिक जगह पर डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड को स्कैन करके पेमेन्ट करते है तो आपके कार्ड के ऊपर की ओर लिखी सभी जानकारी कोई भी बड़ी आसानी से पढ़ सकता है। लेकिन CVV Code पीछे लिखा होने के कारण आसानी से किसी की नजरों में नहीं आता है और इस तरह यह आपको धोखाधड़ी से बचाता है।


CVV क्यों जरूरी है?

यदि आपका डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड गलती से कही खो जाए तो भी वह इसका उपयोग तब तक नही कर सकता जब तक कि उसे आपके कार्ड का CVV Code पता ना हो। इसलिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) और अन्य सभी बैंक खुद यह सलाह देते है, कि अपना CVV नम्बर किसी के साथ शेयर ना करे।

यही नहीं बल्कि अगर आप यह कोड याद रख सकते है, तो याद करके इसे कार्ड पर से मिटा दे ताकि अगर गलती से आपका डेबिट या क्रेडिट कार्ड किसी अन्य व्यक्ति के हाथ भी लग जाये तो वह उस कार्ड का CVV कोड ना जान सके और वह किसी भी तरह से आपके कार्ड का दुरुपयोग ना कर पाए।

CVV Number की एक खास बात यह है कि अगर आप अपने डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड द्वारा कोई ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करते हैं, तो किसी भी सिस्टम में आपका सीवीवी कोड सेव नहीं होता है, जबकि कार्ड डिटेल्स और अन्य व्यक्तिगत जानकारियां सेव हो जाती है। फिर भविष्य में जब कभी आप उस सिस्टम के द्वारा कोई ऑनलाइन पेमेंट करते हैं, तो आपकी अन्य डिटेल्स उस सिस्टम या वेबसाइट पर द्वारा Suggestion में Show हो जाती है। जबकि CVV कोड ना ही किसी सिस्टम में Save होता है, क्योकि बैंकिंग रेग्युलेशन के मुताबिक कोई भी मशीन सीवीसी नंबर को स्टोर नहीं कर सकती है। इस कारण कोई अन्य आपकी अनुमति के बिना आपके कार्ड का दुरुपयोग नहीं कर सकता है।


CVV, CVC और CSC में क्या अन्तर है?

कई बार यह पता लगाना मुश्किल हो जाता है कि CVV, CVC और CSC में क्या अन्तर है। वैसे तो इनमें कुछ खास अन्तर नहीं है लेकिन कुछ चीजों को आधार पर इनमें जो थोड़ा बहुत अन्तर है वह आपको यहाँ बताया गया है। तो जानते है, कि CVV, CVC और CSC में क्या अन्तर होता है। 
  • CVV की Full Form "Card Verification Value" होती है, CVV को ही कई लोग CVC के नाम से जानते है। CVC को संक्षिप्त में "Card Verification Code" कहा जाता है, जबकि CSC का पूरा नाम "Card Security Code" होता है। 
  • Visa में यह वेरिफिकेशन कोड सीवीवी के नाम से जाना जाता है, Master Card इसके लिये CVC नाम का यूज करता है, जबकि CSC का उपयोग अमेरिकन एक्सप्रेस (AMEX) कार्ड द्वारा किया जाता है।
  • CVV Code 3 या 4 अंको का हो सकता है, जबकि CVC Number की संख्या 3 अंको की होती है और CSC Number 4 अंको का होता है।
  • CVV, CVC और CSC तीनों का ही कार्य पेमेन्ट प्रोसेस के समय वेरिफिकेशन करना होता है।


CVV के फायदे

CVV Code का फायदा यही है, कि यह आपके Debit या Credit Card द्वारा किये गए ऑनलाइन ट्रान्सफर को सेफ बनाता है। क्योंकि इससे पता लगता है, कि कार्ड धारक ही इस कार्ड का उपयोग कर रहा है, या अन्य कोई कार्ड धारक की सहमति से ही इसका उपयोग कर रहा है और उसके पास कार्ड मौजूद है। 

इसके अलावा CVV Code का एक फायदा यह भी है कि चाहे आप इस कोड को किसी भी सिस्टम में यूज कर लें लेकिन किसी सिस्टम में इसका डाटा सेव नहीं होता है और ना ही डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड जारी करने वाली कम्पनी भी इसका डाटा स्टोर करके नहीं रखती है। तो कोई भी चाहकर भी इस कोड को एक्सेस या हेक नहीं कर सकता है।


CVV Code की कमियाँ 

एक तरफ जहाँ CVV Code का फायदा है, वही दूसरी तरफ इसकी कुछ कमियाँ भी है। एक साइड जहाँ यह आपके कार्ड को सिक्युरिटी प्रदान करता है, वहीं दूसरी ओर यह धोखाधड़ी का एक बड़ा कारण भी बन सकता है। यदि किसी गलत व्यक्ति को आपके कार्ड का CVV Number और अन्य जानकारी का पता लग जाता है, तो वह बड़ी आसानी से आपके अकाउंट से पैसे निकाल सकता है। इसलिए इस बात विशेष ख्याल रखें, कि गलती से भी अपने कार्ड का CVV Number किसी को ना बताएं।

इसके अलावा यदि किसी के द्वारा आपके कार्ड का डुप्लीकेट कार्ड बनवा लिया जाये और उस डुप्लीकेट कार्ड की Magnetic Stripe भी Same हो, तो वह व्यक्ति इसका दुरूपयोग कर सकता है।


CVV से सम्बन्धित ध्यान रखने योग्य बातें

यदि आप भी अपने डेबिट या क्रेडिट कार्ड द्वारा ऑनलाइन ट्रान्सफर करते है, तो आपको कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना चाहिए। अगर आप इन बातों का ध्यान रखते है, तो इससे धोखाधड़ी होने की सम्भावना बहुत कम हो जाती है। तो आइये जानते है, कि हमें किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए 

  • इस बात विशेष ख्याल रखें, कि कभी गलती से भी अपने कार्ड का CVV Number किसी के साथ शेयर ना करें।
  • इसे कहीं भी लिखकर ना रखेँ।
  • यदि आपका कार्ड खो जाता है, तो तुरंतकार्ड को ब्लॉक करा दें।
  • अगर सम्भव हो, तो अपने कार्ड का CVV Code याद कर लें और फिर इसे अपने कार्ड पर से मिटा दें, ताकि अगर कभी आपका कार्ड गुम भी हो, तो कोई उसका दुरूपयोग ना कर सके। बैंकों द्वारा खुद यह सलाह दी जाती है।


Conclusion

दोस्तों, उम्मीद है, कि इस आर्टिकल में आपको आपके CVV Number से जुड़े सभी प्रश्नों का उत्तर मिल गया होगा कि जैसे कि CVV Kya Hai, CVV Kya Hota Hai, CVV Code के फायदे और नुकसान क्या है? फिर भी यदि आपके मन में CVV CODE से सम्बन्धित कोई सवाल हो, तो आप कमेन्ट बॉक्स में कमेन्ट करके पूछ सकते है इसके साथ ही कमेन्ट करके यह भी बताये कि आपको यह आर्टिकल कैसा लगा आप चाहें तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कर सकते है 


सवाल - जवाब

1. CVV और CVC में क्या अन्तर है? 

CVV और CVC दोनों एक ही इनमें कोई खास अन्तर नही है। CVV का उपयोग वीजा (Visa) कार्ड में करा जाता है। जबकि CVC का उपयोग मास्टर कार्ड किया जाता है। लेकिन अधिकतर लोग CVV को ही CVC के नाम से जानते है। यह दोनों ही वेरिफिकेशन करने के लिये उपयोग में लाये जाते है 

2. क्या CVV Code और Card Pin दोनों एक ही है?

 नहीं, CVV Code और Card Pin दोनों अलग-अलग है। CVV Card ऑनलाइन पेमेंट या ट्रांजेक्शन से सम्बंधित है, जबकि Card Pin का सम्बन्ध ATM Machine से होता है।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ