Two Step Verification क्या है, फायदे और नुकसान, पूरी जानकारी - Fly Hindi

 Two Step Verification आपने कई सोशल मीडिया और अन्य कई सारे अकाउंट्स ने में यह फीचर देखा होगा। क्या आप जानते है, कि Two Step Verification क्या है और इसका उपयोग कैसे करा जाता है। अगर आप एक सोशल मीडिया यूजर है, तो यह बेहद आवश्यक है कि आपको इसके बारे में जानकारी हो। इस आर्टिकल में आपको 2 Step Verification के बारे में पूरी जानकारी मिलेगी। 

आजकल जितनी तेजी से सभी चीजें ऑनलाइन हो रही है, उतनी ही तेजी से ऑनलाइन फ्रॉड और हैकिंग के मामलों में भी बढ़ोतरी हो रही है। ऐसे में यह बेहद आवश्यक है, कि आपके जो भी ऑनलाइन अकाउंट्स है, वो सुरक्षित रहें, ताकि आपको ऑनलाइन फ्रॉड और हैकिंग जेसी दिक्कतों का सामना ना करना पड़े। अब आपका सवाल होगा कि इन अकाउंट्स को सुरक्षित केसे करा जाये? तो आपके इस सवाल का जवाब आपको इस आर्टिकल में ही मिलेगा। 

Two Step Verification एक ऐसा फीचर है, जो कि आपके अकाउंट की सिक्युरिटी के लिए दोहरे कवच के रूप में कार्य करता है। 2 स्टेप वेरीफिकेशन आपके सभी प्रकार के ऑनलाइन अकाउंट्स जेसे कि Facebook , Instargram, Twitter, Whatsapp या Online Banking Account आदि को एक्स्ट्रा सुरक्षा प्रदान करने का काम करता है।


2 स्टेप वेरीफिकेशन का हिन्दी अर्थ (Two Step Verification Meaning in Hindi) 

Two Step Verification को हिन्दी में “दो चरणीय सत्यापन” कहा जाता है।


2 स्टेप वेरीफिकेशन क्या है (What Is Two Step Verification In

 Hindi) 

Two Step Verification एक तरह का ऑप्शनल फीचर होता है, जो अधिकतर सोशल मीडिया अकाउंट में पाया जाता है। 2 Step Verification को 2 Factor Authentication और Multi Factor Authentication के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि इसमें नॉर्मल वेरीफिकेशन के अलावा एक या किसी-किसी अकाउंट को दो बार भी Authentication Method के जरिये वेरीफाई किया जाता है। Two Step Verification सिस्टम के द्वारा आप अपने सभी प्रकार के ऑनलाइन अकाउंट्स जैसे कि कोई बैंक अकाउंट, फेसबुक अकाउंट, व्हाट्सप्प अकाउंट, ईमेल अकाउंट या अन्य किसी भी अकाउंट को एक्स्ट्रा सिक्युरिटी प्रदान करता है।


2 स्टेप वेरीफिकेशन केसे काम करता है?

जब आप अपने किसी अकाउंट में Two Step Verification को Enable करते हैं, तो उस समय आपसे आपका नम्बर या ईमेल आईडी माँगा जायेगा। फिर जब कभी कोई भी आपके अकाउंट को एक्सेस करने की कोशिश करेगा तो आपके द्वारा रजिस्टर्ड नम्बर पर SMS के जरिये या ईमेल आईडी पर मेल के जरिये OTP (One Time Password) आ जायेगा। जब तक यह कोड नहीं डाला जाये अकाउंट Open नहीं होगा। जब तक आप उस व्यक्ति को OTP नहीं बतायेंगे, तब तक वह आपके अकाउंट को एक्सेस नहीं कर पायेगा। इस प्रकार कोई भी व्यक्ति आपकी अनुमति के बिना आपका अकाउंट open नहीं कर पायेगा और आपका अकाउंट बिल्कुल सुरक्षित रहेगा।


2 स्टेप वेरीफिकेशन क्यों आवश्यक है?

साधारणतः यदि हम किसी डिवाइस में कोई अकाउंट को लॉगिन करना चाहते हैं, तो आपको बस उसका यूजर आईडी या यूजर नेम और पासवर्ड याद होना चाहिए। यदि आपको यह पता है, तो आप बड़ी ही आसानी से किसी भी अकाउंट को ओपन कर सकते हैं। 

इस तरह से यदि किसी व्यक्ति को आपका यूजर आईडी या यूजर नेम और पासवर्ड पता लग जाता है, तो वह आपकी अनुमति के बिना ही आपके अकाउंट्स चाहें वह आपका फेसबुक अकाउंट हो, व्हाट्सप्प अकाउंट हो, ईमेल अकाउंट हो, कोई ऑनलाइन बैंक अकाउंट हो या अन्य कोई भी अकाउंट्स जिनमें की आपकी कई सारी व्यक्तिगत जानकारियां होती है या कोई धनराशि हो या अन्य कोई भी चीज जिनका दुरुपयोग कर कोई भी आपको किसी भी प्रकार की हानि पहुँचा सकता है। लेकिन यदि आप इन अकाउंट्स को 2 स्टेप वेरीफिकेशन के द्वारा वेरिफाईड़ कर लेते हैं, तो फिर यदि किसी को आपके अकाउंट का यूजर आईडी या यूजर नेम और पासवर्ड पता हो तो भी वह आपके अकाउंट को इतनी आसानी से एक्सेस नहीं कर सकता है। 

कई बार लोग अपने अकाउंट्स के पासवर्ड बड़े ही सिम्पल रख लेते हैं, इस कारण उनके अकाउंट्स बड़ी ही आसानी से हैक किये जा सकते हैं। इसके अलावा कई लोग अपने काफी सारे अकाउंट्स के सैम पासवर्ड रख लेते हैं, ऐसे में यदि किसी को आपका पासवर्ड पता लग जाता है, तो वह एक साथ आपके कई अकाउंट्स को हैक कर सकता है। ऐसी स्थिति में बेहद आवश्यक आप की आपको अपने अकाउंट्स को डबल सिक्योर करें।


2 स्टेप वेरीफिकेशन के फायदे (Advantages Of Two Step Verification)

  • Two Step Verification का फायदा यह हैं, कि इसे Enable करने से आपके अकाउंट को एक्स्ट्रा सिक्युरिटी मिल जाती है। यह आपके अकाउंट को उन अकाउंट के मुकाबले कई गुना सुरक्षित रखता है, जिनमें की Two Step Verification Enable नहीं होता है। 
  • आपके अकाउंट को किसी भी प्रकार के Unauthorised एक्सेस होने से बचाता है।
  •  आपके द्वारा किये गये ऑनलाइन पेमेंट या ऑनलाइन ट्रांसक्शन को सेफ और सिक्योर बनाता है और आपको ऑनलाइन फ्रॉड से सुरक्षा प्रदान करता है।


2 स्टेप वेरीफिकेशन के नुकसान (Disvantages Of Two Step Verification)

2 स्टेप वेरीफिकेशन का बस एक ही नुकसान है और वो यह है, कि आप जिस नम्बर से या जिस ईमेल आईडी से आप अपने अकाउंट को वेरीफाईड़ करते हैं। उस नम्बर को या ईमेल आईडी को आपको सैफ रखना पड़ता है। क्योंकि OTP उसी सिम या ईमेल आईडी पर आता है। यदि आपसे वह सिम कहीं खो जाती है, या फिर किसी कारणवश बन्द हो जाती है, तो आप OTP नहीं जान पायेंगे और उसके बिना आप अकाउंट भी एक्सेस नहीं कर पायेंगे।


ध्यान देने योग्य बातें

कुछ बातें है, जिनको लेकर  आपको थोड़ा सतर्क रहने की आवश्यकता है, यदि आप थोड़ी सी सतर्कता बरतेंगे तो आप अपने किसी भी प्रकार के ऑनलाइन या सोशल मीडिया अकाउंट को ज्यादा सिक्योर बना सकते हैं और हैक होने से बचा सकते हैं। 

  • आपके नम्बर पर आया हुआ OTP किसी के साथ शेयर ना करें। 
  • 2 स्टेप वेरीफिकेशन का पिन स्ट्रॉन्ग बनाये, जो कोई भी आसानी से हैक ना कर सके। इसमें 123456 जेसे पिन का उपयोग करने से बचे। 
  • अपने 2 स्टेप वेरीफिकेशन का पिन किसी के साथ शेयर ना करें। 
  • यदि आपके बिना कोई रिक्वेस्ट करे, आपको कोई ऐसा ईमेल प्राप्त होता है, जिसमें Two Step Verification को बन्द (Disable) करने के लिए बोला जाये तो वहाँ पर दिए गए किसी भी लिंक पर क्लिक ना करें। साथ ही हो सकें तो अपना पिन भी चेंज करके कोई स्ट्रॉन्ग पिन रख सकते हैं।


Conclusion 

तो दोस्तों अब आपको समझ आ ही गया होगा कि ऑनलाइन अकाउंट्स को सिक्योर रखना कितना जरूरी है और साथ ही यह भी पता लग गया कि Two Step Verification kya hai, Two Step Verification के फायदे और नुकसान क्या है, और Two Step Verification से आप किस तरह से आप अपने अकाउंट्स को एक्स्ट्रा सिक्योर कर सकते हैं। इसके अलावा यहाँ आपको 2 स्टेप वेरीफिकेशन के फायदे और नुकसान के बारे में भी बताया गया है। वेसे तो 2 Step Verification के बारे में सारी जानकारी दे दी है, लेकिन अगर फिर भी आपका सवाल हो तो आप कमेन्ट सेक्शन में कमेन्ट करके पुछ सकते हैं।







एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ