Resistor क्या है? What is Resistor in Hindi?

You are currently viewing Resistor क्या है? What is Resistor in Hindi?

नमस्कार! Resistor एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण का मुख्य भाग होता है। लेकिन क्या आपको Resistor क्या है के बारे में पूरी जानकारी है। घबराएं नहीं, आज के इस लेख में हम आपको Resistor क्या है और कैसे काम करता है कि बारे में पूरी जानकारी देंगे। दोस्तों resistor एक बहुत अच्छा और समझने लायक विषय है तो इस लेख को ध्यानपूर्वक पढ़ियेगा क्योंकि इससे आपको बहुत कुछ सीखने को मिलने वाला है।

Resistor क्या है? (What is Resistor in Hindi)

Resistor करंट के फ्लो को कंट्रोल करने के लिए एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है। हिंदीं में Resistor का मतलब अवरोध होता है अर्थात बाधा एवं रुकावट डालने वाला।

यह एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण का अहम हिस्सा होता है। प्रतिरोधक उपकरण में बिजली के वेग में रुकावट पैदा करता है और कंट्रोल बनाये रखता है।

Resistor कम या ज्यादा वैल्यू के आते हैं। एक कम वैल्यू का रेसिस्टर करंट के फ्लो में कम रुकावट पैदा करता है परंतु एक अधिक वैल्यू वाला रेसिस्टर करंट के फ्लो में अधिक रुकावट पैदा करने में सक्षम होता है। 

Resistor की वैल्यू को OHM में मापा जाता है। OHM बिजली की प्रतिरोध शक्ति को मापने का काम करती है।

OHM का सूत्र– R = V / I

R = Resistance, V = Voltage, I = Current

ओम (OHM) के नियम के अनुसार, किसी Resistor के आर-पार वोल्टेज (V) उसमें से बहने वाली धारा (I) के समानुपाती होता है। जहां Resistor R आनुपातिकता का स्थिरांक है।

Resistor का निर्माण कैसे होता है?

Resistor का निर्माण कार्बन मिक्सचर एवं इंसुलेटिंग मटेरियल से होता है। एक पावर conductor वायर के मध्य प्रतिरोधक मटेरियल कार्बन का उपयोग करके रेसिस्टर को बनाया जाता है। Resistiors ऊपर से देखने में एक जैसे लग सकते हैं परंतु अंदर से इनकी बनावट अलग अलग हो सकती है।

Resistor में जितना अधिक पतला copper wire या फिर अधिक turns के साथ इस्तेमाल किया जाता है तो resistance अधिक होता है।

Resistor कैसे काम करते हैं? (How Resistor works in Hindi)

दोस्तों Resistor एक विद्युत तार के मध्य कार्बन से निर्मित होता है। वायर के मध्य का यह भरा हुआ पदार्थ वायर में विद्युत के वेग में रुकावट पैदा करता है। जिससे विद्युत के बहने की क्षमता कम हो जाती है।

आपको बता दें कि इलेक्ट्रिक circuts से resistance की वैल्यू जानने के लिए resistor की जरूरत पड़ती है। Resistor के मध्य में लगा हुआ कॉपर पदार्थ वायर से गुजरने वाली विद्युत के वेग को कम करता है। 

Resistance क्या है? (What is Resistance in Hindi)

दोस्तों Resistor क्या है जानने के बाद रेसिस्टेन्स को समझना भी आवश्यक है, क्योंकि सभी रेसिस्टर एक रेसिस्टेन्स वैल्यू पर कार्य करते हैं। आपको ज्ञात होगा कि विद्युत किसी भी मटेरियल में इलेक्ट्रान के जरिये प्रवाहित होती है। Electrons छोटे छोटे particles होते हैं। यह electrons chargable होते हैं।

आप जो भी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण देखते हैं उनमें इलेक्ट्रॉन्स होते हैं, जिसकी मदद से उस उपकरण में ऊर्जा का प्रवाह होता है। आसान भाषा में Resistance का मतलब विद्युत प्रवाह में उत्पन्न होने वाली बाधा से है।

अक्सर पाठकों का यह सवाल होता है कि क्या Resistor और resistance एक समान होते हैं? आपको बता दें कि Resistor स्वयं एक उपकरण होता है और resistance का इस्तेमाल इसी के अंदर किया जाता है। यह दोनों पृथक हैं, परन्तु एक दूसरे के पूरक हैं। इसके अलावा रेसिस्टर की वैल्यू का मापन भी रेसिस्टेन्स से ही होता है।

Resistor के प्रकार (Types of Resistor in Hindi)

Resistor के कई प्रकार हैं। यह अलग-अलग डिज़ाइन, साइज, और मटेरियल के हो सकते हैं। यहां पर हम रेसिस्टर के सभी प्रकारों के बारे में जानेंगे। Resistor के मुख्य प्रकार निम्न हैं।

Linear Resistor

Linear Resistors ऐसे resistors होते हैं जिनकी वैल्यू वोल्टेज और टेम्परेचर के साथ बदल जाती है। Linear Resistors के भी दो प्रकार होते हैं।

A. Fixed Resistor

B. Variable Resistor

A. Fixed Resistor

जैसा कि इसके नाम से आपको समझ में आ ही गया होगा। Fixed Resistor का मतलब ऐसे रेसिस्टर जिनकी निश्चित resistance value होती है और उसमें बदलाव नहीं किया जा सकता है। Fixed Resistor मुख्यतः निम्न प्रकार के होते हैं।

1. Carbon Composition Resistors

कार्बन कम्पोजीशन रेसिस्टर्स graphite, granulated carbon या powdered carbon के बने होते हैं। इसमें कार्बन की मदद से रॉड के आकार का रोधक बनाया जाता है, जिसके दोनों तरफ विद्युत प्रवाह के लिए वायर होते हैं। इसमें इस्तेमाल की हुई सामग्री निश्चित करती है कि रेसिस्टर का रेजिस्टेंस कितना होगा।

2. Wire Wound Resistors

Wire Wound Resistor का निर्माण resistive wire को किसी अचालक वस्तु पर लपेट कर किया जाता है। wire wound resistor कार्बन रेसिस्टर की तुलना में कम आवाज करते हैं। wire wound resistor में resistive wire के लिए सामन्यतः manganin, Nichrome, Tungsten या फिर nickle का इस्तेमाल किया जाता है। Wire wound रेसिस्टर का मान 0.01 से लेकर 1 मैगा ओम तक हो सकता है।

3. Thin Film Resistors

Thin Film Resistors का निर्माण हाई grid ceramic rod से होता है, और इसमें रेसिस्टिव मटेरियल का इस्तेमाल किया जाता है। इस प्रकार के रेसिस्टर में बहुत पतली परत चढ़ाई जाती है। Thin Film Resistor भी दो प्रकार के होते हैं।

  • Carbon Film Resistor
  • Metal Film Resistors
4. Thick Film Resistors

Thick Film Resistors एक तरह से Thin Film Resistors के समान ही होते हैं, इनमें बस इस्तेमाल होने वाले रेसिस्टिव मटेरियल का अंतर होता है। Thick Film Resistor के भी तीन प्रकार होते हैं।

  • Metal Oxide Resistors
  • Fusible Resistors
  • Cermet Film Resistors

B. Variable Resistor

Variable Resistors ऐसे Resistors होते हैं, जिनमें रेसिस्टेन्स वैल्यू में बदलाव किया जा सकता है। इस तरह के रेसिस्टर्स में वैल्यू बदलने के लिए ऑप्शन दिया होता है। Variable Resistors निम्न प्रकार के होते हैं।

1. Potentiometers

यह तीन टनल वाले डिवाइस होते हैं, जिनका इस्तेमाल circuit में वोल्टेज कंट्रोल करने के लिए किया जाता है। इस रेसिस्टर में वैल्यू को कि बदलने के लिए वाइपर को घुमाना होता है जो कि control shaft से जुड़ा होता है। इन रेसिस्टर्स की वैल्यू 10 Mega Ohms तक हो सकती है।

2. Trimmer

Trimmer Resistors कार्बन कम्पोजीशन, वायर मटेरियल और सरमेट क बने होते हैं। इस प्रकार के रेसिस्टर्स की वैल्यू 50 Ohms से 5 Mega Ohms तक हो सकती है। इनमें एक अतिरिक्त screw दिया होता है जिसे घूमाने पर रेसिस्टेन्स वैल्यू में बदलाव किया जा सकता है।

3. Rheostats

Rheostats Resistors को tapped resistors एवं variable wire resistors के नाम से भी जाना जाता है। यह रेसिस्टर्स दो एवं तीन टनल वाले होते हैं।

Non-Linear Resistor

Non Linear Resistors ऐसे resistors होते हैं जिनमें करंट फ्लो में बदलाव tempreature या applied voltage में बदलाव के कारण होता है। Nonlinear Resistors निम्न प्रकार के हो सकते हैं।

1. Thermistors

2. Varistors

3. Photo Resistors

1. Thermistors

इस प्रकार के रेसिस्टर्स temprature में बदलाव की पहचान कर सकते हैं। यह दो टर्मिनल वाले डिवाइस होते हैं एवं तापमान का अनुमान लगाने में sensitive होते हैं। यह डिवाइस Nickel, Strontium, Cobalt एवं metal oxides आदि से बनते हैं।

2. Varistors

इस तरह के रेसिस्टर्स destructive voltage spikes से circuit की सुरक्षा करते हैं। अगर कभी वोल्टेज सप्लाई में अचानक बढ़ोतरी हो जाती है तो Varistors resistors voltage को एक सुरक्षित लेवल तक कम कर देते हैं।

3. Photo Resistors

फ़ोटो रेसिस्टर्स में रेसिस्टेन्स वैल्यू इस पर पढ़ने वाली लाइट के साथ बदलती है। Photo Resistors फ़ोटो रेसिस्टर्स को Photocell, LDR, एवं light dependent resistor के नाम से भी जाना जाता है।

इसमें रेसिस्टेन्स वैल्यू इस पर पड़ने वाली लाइट के साथ बदलती है। इस प्रकार के रेसिस्टर्स का उपयोग alarm devices, कैमरा लाइट मीटर, एवं क्लॉक रेडियो जैसे डिवाइस में किया जाता है।

Resistor के उपयोग (Uses of Resistor in Hindi)

Resistors का मुख्य उपयोग किसी भी उपकरण में विद्युत के प्रवाह को control करना होता है। रेसिस्टर्स को और भी कई काम मे लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। चलिए जानते हैं रेसिस्टर्स के उपयोग क्या क्या हो सकते हैं।

Circuit Function में Resistors का उपयोग

Circuit में करंट फ्लो को कंट्रोल करने के लिए रेसिस्टर का उपयोग किया जाता है। circuit में रेसिस्टर का उपयोग करने पर इलेक्ट्रॉनिक उपकरण में मौजूद मोटर की गति एवं स्पीकर की ध्वनि को भी कम ज्यादा किया जा सकता है।

Voltage Drop एवं Control के लिए रेसिस्टर का उपयोग

कई बार ऐसा होता है कि उपकरण में उसकी क्षमता से अधिक वोल्टेज सप्लाई होने लगती है। ऐसे में उपकरण में मौजूद resistor वोल्टेज को ड्राप करता है और एक सुरक्षित स्तर तक गिरा देता है।

LED एवं Transistor में Resistor

LED और Transistor में अधिक विद्युत का प्रवाह खतरनाक हो सकता है। ऐसे में जब उपकरण में LED एवं Transistor का उपयोग किया जाता है तो रेसिस्टर भी लगाया जाता है ताकि वोल्टेज एक सुरक्षित स्तर पर बना रहे।

यह भी जानें:

Conclusion

अब आपको समझ आ गया होगा कि Resistor क्या होता है। इस लेख में हमने आपको रेसिस्टर क्या है इसके उपयोग ओर प्रकार आदि के बारे में संपूर्ण जानकारी दी है। में आशा करता हूँ आपको यह आर्टिकल What is Resistor in Hindi में पसन्द आया होगा और आपको कुछ सीखने को मिला होगा। अपने विचार हमें कमेंट करके अवश्य बतायें। धन्यवाद।

Jay Kanwar

Jay Kanwar is an professional blogger. She loves reading and learning new tech. She contributes most of the tech and informative articles on this blog.

Leave a Reply