Black Hat SEO

You are currently viewing Black Hat SEO

अगर SEO के बारे में जानते हैं तो आप यह भी जानते होंगे कि Black Hat SEO Kya Hai. यदि नहीं तो यह आर्टिकल Black Hat SEO in Hindi आपके लिए ही है। इस आर्टिकल में आपको ब्लैक हैट एसईओ से सभी जरूरी जानकारी जैसे कि Black Hat SEO क्या होता है, ब्लैक हैट एसईओ कैसे करते है और ब्लैक हैट एसईओ टेक्निकस के अलावा ब्लैक हैट एसईओ से होने वाले फायदे और नुकसान के बारे में भी बताया गया है। साथ ही यहाँ आपको सभी Black Hat SEO Kese Kare के बारे में भी बताया गया है और यह भी बताया है कि इन ब्लैक हैट एसईओ टेक्निक्स का उपयोग कर आप पैसे कैसे कमा सकते है।

दोस्तों जैसा कि आप सब जानते है, एसईओ करने के लिए तीन तरह की टेक्निक्स उपयोग में ली जाती है, White Hat SEO, Black Hat SEO और Gray Hat SEO. अधिकतर ब्लॉगर अपने ब्लॉग अथवा वेबसाइट का एसईओ करने के लिए व्हाइट हैट एसईओ और ब्लैक हैट एसईओ टेक्निक्स उपयोग करते है। वैसे तो कई ब्लॉगर्स इन ब्लैक हैट एसईओ टेक्निक्स का इस्तेमाल कम समय में अपनी पोस्ट को अच्छी रैंकिंग दिलाने के लिए करते हैं। लेकिन जैसा कि आप सब जानते है, ब्लैक हैट एसईओ करना गूगल एल्गोरिथ्म्स की नजरों में गलत माना जाता है।

कई बार नए ब्लॉगर्स गलती से इनका यूज कर लेते है और अपनी साइट की रैंकिंग खराब करवा लेते है। इन्हीं चीजों से बचने के लिए इस पोस्ट में दी गई जानकारी एक नए ब्लॉगर के लिए बहुत आवश्यक है। अगर आप एक ब्लॉगर है तो पूरे आर्टिकल को ध्यान से पढ़े इसमें दी गई जानकारी आपके लिए बहुत लाभदायक साबित होगी। लेकिन इससे पहले कि हम ब्लैक हैट एसईओ के बारे में ओर जानकारी दे उससे पहले जान लेते है कि Black Hat SEO Kya Hota Hai.

Black Hat SEO क्या है (What is Black Hat Seo in Hindi)

सर्च इंजन्स के गाइडलाइन्स और रूल्स को अनदेखा कर किसी साइट, ब्लॉग अथवा ब्लॉग पेज की रैंकिंग बढ़ाने और हाई ट्रैफिक पाने के लिए यूज की गई तकनीक ब्लैक हैट एसईओ कहलाती है। ब्लैक हैट एसईओ को Negative Seo के नाम से भी जाना जाता है। ब्लैक हैट एसईओ टेक्निक्स का उपयोग मुख्य रूप से search engine result page (SERP) में कम समय में किसी साइट, ब्लॉग अथवा ब्लॉग पेज की रैंकिंग बढ़ाने के लिए किया जाता है। 

SEO की इस तकनीक का उपयोग आमतौर पर कम्प्यूटर हैकर्स और वायरस क्रिएटर्स के द्वारा किया जाता है, लेकिन कई बार नए ब्लॉगर्स जिन्हें एसईओ के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होती है, जाने-अनजाने में इस तरह की black hat seo Tactics का यूज कर लेते हैं। ब्लैक हैट एसईओ में लोगों को महत्व न देकर सर्च इंजन्स एल्गोरिथम को प्राथमिकता दी जाती है।

On Page SEO क्या है और कैसे करे?

OFF PAGE SEO क्या है, कैसे करें?

Black Hat Seo Techniques in Hindi

Black Hat Seo Techniques in Hindi

अगर आप किसी ब्लॉग अथवा वेबसाइट का ब्लैक हैट एसईओ करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको black hat seo techniques का उपयोग करना होगा। यहाँ हमने आपको ब्लैक हैट एसईओ की सभी टेक्निक्स के बारे में बताया गया है, जिनकी सहायता से आप बड़ी आसानी से किसी भी किसी भी ब्लॉग अथवा वेबसाइट का ब्लैक हैट एसईओ कर सकते है। आइये जानते है, ऐसी ही कुछ ब्लैक हैट एसईओ टेक्निक्स के बारे में।

Keyword Stuffing

आर्टिकल में किसी specific keywords का बिना जरूरत के बार-बार इस्तेमाल करना, Keyword Stuffing कहलाता है। उदाहरण के लिए किसी आर्टिकल में समूह में या सूची में अथवा आर्टिकल से बाहर कीवर्ड्स को बार-बार रिपीट करना। नए ब्लॉगर्स कई बार अपनी पोस्ट को search engine पर रैंक कराने के लिए इस तरह की ब्लैक हैट एसईओ टेक्निक का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन इस तरह के आर्टिकल रीडर्स पर बुरा असर डालते हैं।

कुछ समय पहले ब्लॉगर्स के बीच में कीवर्ड स्टफिंग टेक्निक कॉफी पॉपुलर थी और अधिकतर ब्लॉगर्स black hat seo की इस टेक्निक का इस्तेमाल कर अपनी ब्लॉग पोस्ट को सर्च इंजिन्स में टॉप रैंक पर पहुँचा देते थे। लेकिन उसके बाद सर्च इंजन्स के एल्गोरिथम्स में बहुत से बदलाव आए हैं और अब सर्च इंजन्स के एल्गोरिथम्स इस तरह की पोस्ट को आसानी से पकड़ लेते हैं। ऐसी स्तिथि में सर्च इंजन्स द्वारा आपकी वेबसाइट अथवा ब्लॉग को penalize भी किया जा सकता है।

अभी भी कई ब्लॉगर्स keyword stuffing का यूज करते हैं, लेकिन ऐसा करके वह अपना ही नुकसान करते हैं। थोड़े समय बाद उनकी रैंकिंग में गिरावट आ जाती है और यही नहीं बल्कि सर्च इंजन्स द्वारा ऐसी वेबसाइट अथवा ब्लॉग को ब्लैकलिस्ट में भी शामिल किया जा सकता है।

जिस पोस्ट में जितने ज्यादा keywords होते हैं, सर्च इंजन को उस पोस्ट को क्रॉल करने में उतनी ही आसानी होती है। इसलिए ब्लॉगर्स ऐसे तरीकों की खोज में रहते हैं, जिनका यूज कर वह अपनी पोस्ट में ज्यादा से ज्यादा keywords का उपयोग कर सके। इन्ही तरीकों में से एक हैं, hidden text इस टेक्निक में ब्लॉगर्स द्वारा अपने आर्टिकल में keywords का कलर background colours के जैसा ही करके यूज किया जाता है।

इस तरह यह कीवर्ड्स रीडर्स को तो नहीं दिखते हैं लेकिन सर्च इंजन्स के एल्गोरिथ्म्स द्वारा इन्हें आसानी से क्रॉल कर लिया जाता है और आपकी पोस्ट के अच्छी रैंकिंग पाने के चांस बढ़ जाते हैं। साथ ही इससे रीडर्स पर भी कोई बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है, क्योंकि उन्हें वह टेक्स्ट दिखाई ही नहीं देते हैं। इस टेक्निक को Invisible Keyword के नाम से भी जाना जाता है। यह भी black hat seo techniques का ही एक पार्ट है।

Duplicate Content

कई ब्लॉगर अन्य लोगों की पोस्ट को कॉपी-पेस्ट करके उसे पोस्ट कर करना या फिर एक ही पोस्ट को बार-बार पब्लिश करना, Duplicate Content कहलाता है। ब्लॉगर्स की लैंग्वेज में डुप्लीकेट कंटेन्ट को Plagiarism भी कहा जाता है। अगर आप अपने ब्लॉग में इस तरह का डुप्लीकेट कंटेन्ट का यूज करते हैं तो यह थोड़े समय के लिए यह आपके ब्लॉग के लिए फायदेमंद हो सकता है लेकिन एक समय बाद यह आपकी रैंकिंग में भारी गिरावट का कारण बन सकता है।

Invisible iFrames

आपने ऐसी वेबसाइट देखी ही होगी जिन पर कभी आप विजिट करते हैं तो कुछ pages बैकग्राउंड में अपने आप ही download होने लगते है जबकि यह आपको वेबसाइट पर दिखाई भी नहीं देते है, इस तरह के पेजों को Invisible iFrames कहा जाता है। ब्लॉगर्स द्वारा ऐसे pages का यूज किया जाता है जो पूरी तरह अदृश्य होते हैं, ब्लैक हैट एसईओ कहलाता है।

Doorway and Gateway Post

Doorway and Gateway Posts अथवा Pages ऐसी पोस्ट अथवा पेज होते है, जो सर्च इंजन्स एल्गोरिथ्म्स की नजर में poor quality के होते है। यह ऐसी पोस्ट होती है, जिनमें गलत या आधी-अधूरी जानकारी होती है और जिनमें keyword stuffing की जाती है। इस तरह की posts केवल search engine spiders को ध्यान में रखकर तैयार की जाती है, ताकि कम समय में और आसानी से index कर, अच्छी रैंकिंग प्राप्त की जा सके।

Cloaking or Redirecting

क्लोकिंग और रीडायरेक्टिंग ब्लैक हैट एसईओ की एक ऐसी टेक्निक है, जिसमें ब्लॉगर्स अपनी वेबसाइट या ब्लॉग पर ज्यादा ट्रैफिक लाने के लिए रीडर्स को एक पेज से दूसरे पेज पर Redirect किया जाता हैं। इन दोनों पेज में अलग-अलग प्रकार के कंटेन्ट होते है। पहला पेज सर्च इंजन्स बोट्स के लिए होता है, जिसे search engine crawler द्वारा किसी विशेष कीवर्ड पर सर्च करने पर suggest किया जाता है। जबकि दूसरा पेज होता है, रीडर्स के लिए। इस पेज में पहले पेज से बिल्कुल अलग कुछ और ही कंटेन्ट होता है। पहला पेज केवल सर्च इंजन बोट्स को गुमराह करने के लिए होता है। इस प्रकार से की गई कोडिंग Cloaking or Redirecting कहलाती है।

कई लोग इसे Sneaky Redirects और Page Hijack के नाम से भी जानते है। यह आपकी वेबसाइट पर बाउंस रेट बढ़ने का एक मुख्य कारण बन सकता है। उदाहरण के लिए, जैसे कोई पेज है, जिस पर एजुकेशनल जानकारी उपलब्ध है जब कोई रीडर इस पेज पर जाता है तो यह पेज उसे एक अन्य पेज पर रीडायरेक्ट करता है। जहाँ पर गेम्स से सम्बन्धित जानकारी उपलब्ध होती है। इस प्रकार जो लोग एजुकेशनल जानकारी के लिए आते है, उनका ट्रैफिक भी गेमिंग पेज पर आ जाता है।

Mirror Website

कई ब्लॉगर्स अपनी वेबसाइट को रैंक कराने के लिए अलग-अलग कई सारी वेबसाइट्स बनाकर उन सभी वेबसाइट्स पर एक ही प्रकार का कंटेन्ट डालते रहते है कि कोई न कोई साइट तो रैंक होगी ही, इस तरह की वेबसाइट्स Mirror Website कहलाती है। इस तरह की वेबसाइट्स बनाकर यदि आप कुछ समय के लिए अच्छी रैंक प्राप्त भी कर लेते हैं तो भी डुप्लीकेट कंटेंट होने के कारण एक समय बाद सर्च इंजन्स आपको स्पैम मानकर आपकी रैंक गिरा सकते हैं।

Negative SEO

Negative SEO भी ब्लैक हैट एसईओ की ही एक तकनीक है। स्पेम करके किसी specific keyword पर रैंक हो रही किसी प्रतिस्पर्धी की वेबसाइट की रैंक नीचे गिराने कोशिश करना, नेगेटिव एसईओ कहलाता है। नेगेटिव एसईओ में प्रतिस्पर्धी वेबसाइट के quality backlinks को हटाकर उसके बैकलिंक्स कम करना और उसके लिए स्पैम लिंक्स बनाना आदि प्रक्रिया शामिल होती है। कई लोग ब्लैक हैट एसईओ को ही Negative SEO के नाम से जानते है।

कई ब्लॉगर्स अपनी साइट पर ज्यादा ट्रैफिक लाने के लिए ऐसे बैकलिंक्स का यूज करते है जो कि उनके कंटेन्ट से बिल्कुल अलग है। इस प्रकार के बैकलिंक्स आपकी वेबसाइट का स्पैम स्कोर बढ़ाते है और सर्च इंजन्स आपके कंटेन्ट को स्पैम समझकर उसकी रैंकिंग गिरा देते है।

Unrelated Meta Description

Meta Description किसी पोस्ट को रैंक कराने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। मेटा डिस्क्रिप्शन से कंटेन्ट के बारे में आसान होता है कि सम्बन्धित सामग्री की बारे में है। कई बार ब्लोगर्स अपनी पोस्ट के लिए ऐसे मेटा डिस्क्रिप्शन का यूज कर लेते है जो कि उनके कंटेन्ट से बिल्कुल होता है और इसके माध्यम से वह SERP में अच्छी रैंक पाने में सफल हो जाते है। इस प्रकार से किसी Unrelated Meta Description का यूज करना सर्च इंजन्स की नजर में गलत है, इसे भी एक प्रकार का ब्लैक हेट एसईओ माना जाता है।

Spamdexing

Spam करके अपनी साइट अथवा ब्लॉग को SERP में index कराना, Spamdexing कहलाता है। इन स्पैम में hidden links का यूज करना, Comments द्वारा स्पैम करना, बार-बार unrelated phrases का इस्तमाल करना आदि शामिल है।

अगर आप अपनी वेबसाइट अथवा ब्लॉग के लिए backlinks create करने के लिए किसी प्रकार के paid links का यूज करते हैं, तो यह भी एक प्रकार का ब्लैक हैट एसईओ ही है। Google bots आपके द्वारा बनाए गए इस प्रकार के बैकलिंक्स को आसानी से penalize कर सकते हैं, जो कि एपीआई वेबसाइट अथवा ब्लॉग के लिए हानिकारक साबित हो सकता है। इसलिए कभी भी अपनी वेबसाइट के लिए बैकलिंक्स बनाने के लिए कभी भी किसी automated software का यूज न करें और न ही किसी link exchanges का यूज करें।

Article Spinning

Article Spinning भी ब्लैक हैट एसईओ का एक हिस्सा है। किसी पॉपुलर ब्लॉग को कॉपी कर उसे किसी third-party tool द्वारा स्पिन करके पब्लिश करना, Article Spinning कहलाता है। ऐसी स्तिथि में सर्च इंजन्स द्वारा आपको बैन भी किया जा सकता है।

Content Scraping

किसी अन्य वेबसाइट के कंटेन्ट को Scrap करके अपनी वेबसाइट पर पब्लिश करना, Content Scraping कहलाता है। सर्च इंजन्स द्वारा इस प्रकार के कंटेन्ट्स को प्राथमिकता नहीं दी जाती है। अगर आप किसी पॉपुलर कंटेन्ट की Scraping करके उसे पब्लिश कर SERP में अच्छी रैंक प्राप्त कर भी लेते हैं तो भी कुछ समय बाद जब सर्च इंजन्स बोट्स आपके कंटेन्ट को penalize कर ही लेंगे। ऐसी स्तिथि में आपकी रैंकिंग पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ सकता है।

बहुत सारे blogs का यूज कर किसी एक ब्लॉग के लिए backlinks बनाना, Link farming कहलाता है। सर्च इंजन के bots अगर आपका कोई एक भी ऐसा ब्लॉग penalize कर लेते हैं तो हो सकता है कि आपका उस ब्लॉग से जुड़ा पूरा नेटवर्क ही बैन कर दिया जाए।

क्या ब्लैक हैट एसईओ करना गैरकानूनी है (Is Black Hat SEO Illegal)

कानूनी के हिसाब से तो नहीं पर Google की policies के अनुसार ब्लैक हैट एसईओ का यूज करना illegal है। अगर आप किसी वेबसाइट अथवा ब्लॉग का SEO करने के लिए black hat seo tricks का इस्तेमाल करते है, तो गूगल द्वारा आपकी वेबसाइट अथवा ब्लॉग की रैंकिंग में गिरावट की जा सकती है। यह नहीं, बल्कि उस पर बैन भी लगाया जा सकता है। केवल गूगल ही नहीं बल्कि अन्य सर्च इंजन्स भी इस तरह की black hat seo techinqes को illegal मानते है।

यदि आप ऐसा व्यवसाय कर रहे है, जिसे आप बस अल्पकाल तक ही सीमित रखना चाहते है, और आपका उद्देश्य केवल दर्शकों को कुछ समय के लिए अपनी ओर आकर्षित करना है, तो मेरा जवाब होगा हां बिल्कुल, लेकिन अगर आप एक दीर्घकालीन व्यवसाय करने का उद्देश्य रखते हैं तो मेरी राय यहीं होगी कि आपको ब्लैक हैट एसईओ तकनीक का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए और इसकी जगह अपनी साइट का एसईओ करने के लिए White Hat SEO Techniques का इस्तेमाल करना चाहिए।

ब्लैक हैट एसईओ से क्यों बचना चाहिए?

Black Hat SEO एसईओ की एक ऐसी टेक्निक है जो आपको कुछ समय के लिए तो सफलता सकती है लेकिन लम्बे समय के लिए यह आपकी साइट के लिए नुकसानदायक होती है। बहुत से यूजर्स सोचते हैं कि अगर वह किसी गलत तरीके का इस्तेमाल कर अपनी रैंक अच्छी करते है तो गूगल इसे पकड़ नहीं पाएगा और वह ऐसी गलती कर बैठते है। अगर आप भी उनमें से एक हैं तो हम आपको बता दें कि गूगल और अन्य सर्च इंजन्स के बोट्स आपकी सोच से कहीं ज्यादा स्मार्ट है। वह आसानी से आपकी इन गलतियों को पकड़ लेते है और इसके लिए आपको दंडित भी किया जा सकता है।

ब्लैक हैट एसईओ का लगातार उपयोग करने से कुछ समय बाद आपकी रैंकिंग में भारी गिरावट आ सकती है, आपको ब्लैकलिस्ट में शामिल किया जा सकता हैं, आपके adsence account को ब्लॉक कर सकते हैं और यही नहीं बल्कि आपकी वेबसाइट या ब्लॉग को गूगल सहित अन्य सर्च इंजन्स द्वारा भी प्रतिबंधित किया जा सकता है। इसलिए अगर आप अपनी साइट को लम्बे समय के लिए सफल बनाना चाहते है तो अपनी साइट का SEO करते समय Black Hat SEO Techniques का यूज करने से बचे।

ब्लैक हैट एसईओ की रिपोर्ट कैसे करें (How To Report Black Hat SEO in Hindi)

आप निम्नलिखित दो प्रकार की स्तिथि में ब्लैक हैट एसईओ की रिपोर्ट कर सकते है।

पहली स्तिथि, जब आप किसी विशेष कीवर्ड पर कोई ऐसा परिणाम देखते हैं जो कि आपका प्रतिस्पर्धी हो और वह स्पैम करके या ब्लैक हैट एसईओ की तकनीक का उपयोग करके अच्छी रैंकिंग प्राप्त कर रहा हो।

दूसरी स्तिथि, जब किसी वायरस या हैकर अथवा स्पैम लिंक के माध्यम से ब्लैक हैट एसईओ तकनीक का इस्तेमाल क़र आपकी वेबसाइट पर हमला किया गया हो। दोनों ही स्तिथियों में आप google webmaster के माध्यम से इस तरह की वेबस्पैम रिपोर्ट दर्ज करा सकते हैं। अगर आप इस पर वेब स्पैम की कोई झूठी रिपोर्ट दर्ज कराते हैं तो यह भी एक प्रकार का ब्लैक हैट एसईओ माना जाता है।

Black Hat Seo के फायदे क्या है?

जैसा कि हमने आपको पहले बताया अगर आप अपनी वेबसाइट को केवल कुछ समय के लिए उपयोग करना चाहते हैं, तो इसके लिए अन्य SEO Techniques की तुलना में ब्लैक हैट एसईओ टेक्निक अधिक फायदेमंद होती है। यहाँ हमने ब्लैक हैट एसईओ करने से होने वाले ऐसे ही कुछ फायदों के बारे में बताया है।

  • Black Hat Seo Techniques का यूज कर आप कम समय में ही अपनी वेबसाइट या ब्लॉग को SERP पर रैंक करा सकते है।
  • यदि आपको कम समय में और अल्पकाल के लिए किसी वेबसाइट या ब्लॉग को पॉपुलर बनाना हो, तो आप Black Hat Seo का यूज कर सकते है।
  • इन टेक्निक्स का उपयोग करके आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग से अच्छी कमाई भी कर सकते है।

Black Hat Seo के नुकसान क्या है?

Black Hat Seo Techniques का यूज करने से आपकी वेबसाइट को फायदे होते हैं, उनकी तुलना में कई अधिक नुकसान हो सकते है। आइये जानते हैं, किसी वेबसाइट अथवा ब्लॉग को ब्लैक हैट एसईओ से होने वाले नुकसान के बारे में।

  • Black Hat Seo Techniques का यूज कर SERP पर रैंक प्राप्त करने से कुछ समय बाद आपकी रैंकिंग में भारी गिरावट देखने को मिल सकती है।
  • Black Hat Seo से करने से गूगल ही नहीं बल्कि अन्य सर्च इंजन्स द्वारा भी आपको बैन करने की सम्भावना रहती है।
  • Black Hat Seo आपकी वेबसाइट अथवा ब्लॉग की bounce rate भी बढ़ाता है।
  • Black Hat Seo का यूज करने से आपकी वेबसाइट अथवा ब्लॉग का domain name भी खराब हो सकता है।

ब्लैक हैट एसईओ से पैसे कैसे कमाएँ?

Black hat seo techniques का इस्तेमाल कर आप कम समय में अपनी वेबसाइट को पॉपुलर बना सकते है और जब आपकी वेबसाइट पर ज्यादा ट्रैफिक आने लगे तो आप कुछ तरीकों का यूज करके short term में ही बहुत सारे पैसे कमा सकते है। आइये जानते हैं, कुछ ऐसे ही तरीकों के बारे में।

Ad Networks

आप अपनी वेबसाइट पर Ads लगाकर उनके जरिये भी पैसे कमा सकते है। आप pop up या propeller किसी भी प्रकार के ads लगा सकते हैं और थोड़े ही समय में आप एड्स के माध्यम से काफी अच्छी earning कर सकते हैं। कुछ low quality ads होते है जिनका इस्तेमाल ऐसे ब्लॉग पर नहीं किया जा सकता जिन्हें आप दीर्घकालीन पूँजी के रूप में देखते हैं।

तो आप इस प्रकार के low quality ads का इस्तेमाल ऐसी वेबसाइट पर कर सकते हैं जिसके लिए आपने ब्लैक हेट एसईओ तकनीक का इस्तेमाल किया हो और जिसे आप लघुकालीन पूँजी के रूप में देखते हो। क्योंकि इस तरह के एड्स का इस्तेमाल करने से आपकी वेबसाइट की रेपोटेशन और रैंकिंग पर बुरा असर पड़ सकता है।

आजकल कई ऐसी websites और apps होते हैं, जो आपको referral income भी देते है। आपको बस अपने referral link को दूसरे व्यक्तियों के साथ शेयर करना होता है और अगर कोई आपके रेफरल लिंक के द्वारा उस एप्प को डाउनलोड करता है तो आपको तय की हुई referral income प्राप्त हो जाती है।

Affiliate Marketing

अगर आपकी वेबसाइट पर अच्छा-खासा ट्रैफिक आता है तो आप Affiliate Marketing के जरिए भी अच्छी-खासी कमाई कर सकते हैं।

Sell Products

अगर आपकी वेबसाइट की रैंकिंग अच्छी है और आपका कोई ऑनलाइन बिजनेस है, तो आप आसानी से ग्राहकों को अपनी ओर आकर्षित करके अपना सामान बेच सकते है।

Dropshipping

आप dropshipping करके भी किसी वेबसाइट के जरिये अच्छी कमाई कर सकते है। आपको बस bulk में सस्ता सामान खरीदकर उसे रिटेल में बेचना होता है। अगर आपकी कोई वेबसाइट अच्छी रैंक हो रही है तो यह आपके लिए अच्छा माध्यम बन सकती है। इसके द्वारा आप ऑनलाइन सेलिंग कर सकते है। तो दोस्तों यह कुछ तरीके थे, जिनका उपयोग कर आप कम समय में भी अच्छी कमाई कर सकते है, अगर आपकी SERP में अच्छी रैंकिंग हो।

FAQ: Black Hat Seo से जुड़े सवाल-जवाब

Negative SEO क्या है?

ब्लैक हैट एसईओ को ही “नेगेटिव एसईओ” कहा जाता है।

क्या ब्लैक हैट एसईओ करना किसी साइट के लिए फायदेमंद है?

अगर आप शार्ट टर्म के लिए किसी वेबसाइट पर काम कर रहे है, तो यह आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है, लेकिन अगर आप लॉन्ग टर्म काम करने के लिए इसका उपयोग करते है तो यह बेहद खतरनाक साबित हो सकता है।

ब्लैक हैट एसईओ में कौन-कौनसी टैक्निकस काम में ली जाती है?

ब्लैक हैट एसईओ में Duplicate Content, Keyword Stuffing, Cloaking or Redirecting, Spamdexing, Content Scraping और Spinning जैसी टैक्निकस का उपयोग किया जाता है।

Negative SEO क्या है?क्या ब्लैक हैट एसईओ सीखने के लिए कोई योग्यता होनी अनिवार्य है?

नहीं, इसके लिए कोई योग्यता होनी अनिवार्य नहीं है।

Conclusion

सर्च इंजन्स द्वारा कुछ टेक्निक्स को गैरकानूनी माना गया है, किसी वेबसाइट अथवा ब्लॉग का एसईओ करते समय इन टेक्निक्स का इस्तेमाल करना ही, ब्लैक हैट एसईओ कहलाता है। गूगल और अन्य सर्च इंजन्स इस तरह के कंटेन्ट्स को बेहद नापसन्द करते है, जो अच्छी रैंकिंग प्राप्त करने के लिए इस तरह की टेक्निक्स का उपयोग करते हैं।

उम्मीद है कि आपको हमारी यह पोस्ट black hat Seo in hindi जरूर पसंद आई होगी और साथ ही आप यह भी जान गए होंगें कि black hat seo techniques का उपयोग कब करना चाहिए और साथ ही इससे होने वाले फायदों और नुकसानों के बारे में भी पता लग गया होगा। इसके साथ ही इस पोस्ट में हमने आपको उन तरीकों के बारे में भी बताया है, जिनमें आप ब्लैक हैट एसईओ का उपयोग करके अच्छी-खासी कमाई कर सकते हैं।

अगर आप भी एक ब्लॉगर हैं, तो मेरी राय यही रहेगी कि आप जल्दबाजी में अच्छी रैंक पाने के लिए इस प्रकार की टेक्निक्स का इस्तेमाल न ही करें। बस थोड़ा धैर्य रखें और अपनी वेबसाइट/ब्लॉग के SEO के लिए White Hate SEO Strategy का इस्तेमाल करें। आपको हमारी यह पोस्ट कैसी लगी कमेन्ट्स करके जरूर बताएं और साथ ही हमारी अगली पोस्ट White Hate SEO के बारे में जानने के लिए हमसे जुड़े रहे। आप चाहें तो हमारी सभी नई पोस्ट की नोटिफिकेशन पाने के लिए आप हमे फॉलो कर सकते है।

Jay Kanwar

Jay Kanwar is an professional blogger. She loves reading and learning new tech. She contributes most of the tech and informative articles on this blog.

Leave a Reply