ई सिम क्या है- eSIM कैसे काम करता है और एक्टिवेट करें: पूरी जानकारी हिंदी

You are currently viewing ई सिम क्या है- eSIM कैसे काम करता है और एक्टिवेट करें: पूरी जानकारी हिंदी

यदि आप मोबाइल फोन यूज करते हैं, तो आप सिम कार्ड के बारे में तो जानते ही होंगे। लेकिन क्या आपने कभी eSIM card के बारे में सुना है? क्या आप जानते हैं, eSIM kya hai अगर नहीं तो आपके लिए यह जानना बेहद आवश्यक है, ई-सिम क्या होता है और यह कैसे काम करता है? क्योंकि टेलीकॉम इंडस्ट्री का भविष्य है, ई-सिम।

अभी तक लगभग ऑस्ट्रिया, कनाडा, जर्मनी, हंगरी, स्पेन, युनाइटेड किंगडम (UK), युनाइटेड स्टेट (US) आदि जैसे लगभग 10 देशों में eSIM card का उपयोग होने लग गया है और यह अच्छी तरह से support भी कर रहा है। eSIM card कम्पनी का कहना है कि वह अन्य देशों में भी अपनी services जल्दी ही उपलब्ध करायेंगे। eSIM का नाम सुनते ही सबसे पहले एप दिमाग में यह सवाल आता है कि यह ई-सिम क्या है और फिर इसे कैसे यूज करें, ई-सिम को कौन-कौन से devices में इस्तेमाल किया जा सकता है और इससे जुड़े अन्य कई सारे सवाल होते है।

आज के इस आर्टिकल में हम आपको eSIM से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारियां देंगे। ई-सिम क्या है, ई-सिम भारत में किन डिवाइस पर सपोर्ट करता है, ई-सिम को कैसे खरीदें व ई-सिम को अपने डिवाइस में कैसे एक्टिवेट करें आदि सभी सवालों के जवाब आपको इस आर्टिकल में मिल जाएंगे तो आखिरी तक आर्टिकल को ध्यान से पढ़े। लेकिन इससे पहले कि आप यह जाने कि ई-सिम क्या है, आपको eSIM की Full Form पता होनी चाहिए। आइए जानते हैं, eSIM की Full Form kya hai.

Content
 [show]

eSIM की फुल फॉर्म क्या है (eSIM Full Form in Hindi)

eSIM की Full Form “Embedded Subscriber Identity Module card” होती है।

eSIM क्या है (What is eSIM in Hindi)

eSIM मोबाइल फोन में लगने वाला virtual sim card होता है, जो नॉर्मल सिम कार्ड से बिल्कुल अलग होता है। इसे इस्तेमाल करने का तरीका भी अलग है, लेकिन एक बार जब आप इसे अपने मोबाइल में एक्टिवेट कर लेते हैं तो फिर इससे भी आप हर वो काम कर सकते है जो किसी नॉर्मल सिम से करते है। इसे फोन में डालने के लिए नॉर्मल सिम कार्ड की तरह किसी सिम स्लॉट की भी जरूरत नहीं पड़ती है, बल्कि यह पहले से फोन में एक चिप के रूप में लगा होता है। जब आपको किसी ई-सिम को एक्टिवेट कराना हो, तो आप सम्बंधित टेलीकॉम कंपनी से सम्पर्क करके इसे एक्टिवेट करा सकते हैं।

आपको यह भी बता दे कि हाल ही में इंडिया में लांच किए गए एप्पल के नए phone iPhone XS और XS Max में भी eSIM का यूज किया है। इसके अलावा Apple Watch Series 3 और Watch Series 4 में भी connectivity के लिए dual SIM support के लिए eSIM का यूज किया गया है। इस तरह इंडिया में भी इसकी शुरुआत हो गयी है।

eSIM कैसे काम करता है (How to Work eSIM in Hindi)

सिम को आप किसी नॉर्मल सिम कॉर्ड की तरह एक डिवाइस में से निकालकर दूसरी डिवाइस में नहीं लगा सकते है। यह डिवाइस में पहले से ही install रहते है। यदि आपको किसी eSIM को किसी दूसरी डिवाइस में यूज करना हो तो उसे अन्य डिवाइस में ऑपरेटर करने के लिए आपको सिम कार्ड नहीं बदलने की आवश्यकता नहीं होती है। eSIM को टेलीकॉम कंपनियों के द्वारा एक्टिव किया जाता है। इसे किसी डिवाइस में एक्टिवेट करने के लिए आपको एक bar code स्कैन करना होता है। बार कोड को स्कैन करते ही कंपनी द्वारा आपका मोबाइल वेरीफाई कर लिया जाता है और स्कैंनिंग पूरी होते ही आपके डिवाइस में ई-सिम एक्टिव हो जाता है। फिर जब भी आपको अपने फोन में दूसरा eSIM यूज करना हो तो इसी तरह से आप दूसरी ई-सिम को वेरिफाई करके अपने डिवाइस में एक्टिवेट कर सकते हैं।

eSIM कैसे खरीदे (How to Buy an eSIM in Hindi)

आप जिस टेलीकॉम कम्पनी का eSIM कनेक्शन प्राप्त करना चाहते हैं उस सम्बन्धित सिम के निकटतम स्टोर पर जाकर उसे आप eSIM प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए आपको KYC करके eSIM के लिए अनुरोध करना होगा। eSIM कनेक्शन प्राप्त करने के लिए उन्ही दस्तावेजों की आवश्यकता होती है, जो साधारण सिम लेते समय आवश्यक होते हैं। KYC के लिए आवश्यक दस्तावेज निम्न है।

  • आधार कार्ड या अन्य कोई पहचान पत्र (जिसमें जन्मतिथि और पते का प्रमाण शामिल हो)
  • एक पासपोर्ट साइज फोटो।

ई-सिम सपोर्ट करने वाले फोन कौन-कौनसे है (eSIM supported mobile phones in India)

भारत में Apple, Samsung, Motorola और Google जैसी कई सारी कम्पनियाँ है जो अपने स्मार्टफोन में ई-सिम को सपोर्ट करने की सुविधा प्रदान करती हैं। भारत में ई-सिम सपोर्ट करने वाले मोबाइल फोन के नाम नीचे बताए गए हैं।

Apple smartphones with eSIM support in India

भारत में apple कंपनी बहुत सारे फोन eSIM को support करते हैं, इनमें iPhone SE (2020), iPhone XR, iPhone XS, iPhone XS Max, iPhone 11, iPhone 11 Pro, iPhone 11 Pro Max, iPhone 12 mini, iPhone 12, iPhone 12 Pro और iPhone 12 Pro Max आदि सभी शामिल हैं।

Samsung smartphones with eSIM support in India

Samsung कंपनी के भी बहुत सारे स्मार्टफोन्स eSIM को support करते हैं। Samsung Galaxy Fold, Samsung Galaxy Z Flip, Galaxy Note 20, Samsung Galaxy Note 20 Ultra, Samsung Galaxy S21 5G, Samsung Galaxy S21 Ultra 5G, Samsung Galaxy S21+ 5G और Samsung Galaxy Z Fold 2 यह सभी सैमसंग के हैंडसेट आपको eSIM की सुविधा प्रदान कराते हैं।

Motorola smartphones with eSIM support in India

Motorola कंपनी के बस दो हैंडसेट Motorola Razr और Motorola Razr 5G में ही eSIM support करती है।

Google smartphones with eSIM support in India

Google के स्मार्टफोन्स में Google Pixel 4a Google Pixel 3a, Google Pixel 3a XL, Google Pixel 3 और Google Pixel 3 XL वाले हैंडसेट में आपको eSIM का यूज कर सकते हैं।

तो यह स्मार्टफोन्स के कुछ मॉडल्स है, जो ई सिम को सपोर्ट करते है। अब हम जानेंगे कि किसी नॉर्मल सिम को ई सिम में कैसे कन्वर्ट करते है?

Physical SIM को eSIM में कन्वर्ट कैसे करें (How to Convert Physical Sim to eSIM in Hindi)

हर प्रकार की eSIM को कन्वर्ट करने के लिए अलग-अलग प्रक्रिया होती है। यहाँ आपको Airtel और VI जैसी टेलीकॉम कम्पनियों की साधारण सिम को ई सिम में कन्वर्ट करने की प्रक्रिया बताई गई है।

Airtel की Physical SIM को eSIM में कन्वर्ट कैसे करें (How to Convert Physical Sim to eSIM airtel in Hindi)

Airtel की साधारण सिम ई-सिम में कन्वर्ट करने के लिए नीचे बताए गए स्टेप्स फॉलो करें।

  • आपको जिस भी airtel sim को eSIM में बदलना है, उस नंबर की सिम से eSIM टाइप करके उसके बाद स्पेस देकर अपनी रजिस्टर्ड ईमेल आईडी लिखें और यह sms 121 पर send कर दें। उदाहरण के रूप में – eSIM [email protected]
  • अगर आपकी ईमेल आईडी रजिस्टर्ड हुई तो कुछ मिंनट में आपको 121 से एक sms प्राप्त होगा।
  • अब आपको इस sms के reply में 1 लिखकर send करके इसे कंफर्म करना होगा।
  • Reply करने के कुछ समय बाद ही आपको एक confirmation sms प्राप्त होगा।
  • एसएमएस के बाद आपके नंबर पर एक कॉल भी आएगा और आपसे eSIM एक्टिवेशन के लिए सहमति मांगी जाएगी, तो इसे confirm करें।
  • कन्फर्म करने के बाद आपकी रजिस्टर्ड ई-मेल आईडी पर टेलिकॉम कंपनी द्वारा एक eSIM QR Code भेजा जाएगा। इस QR Code को आपको अपने मोबाइल फोन से स्कैन करना होगा।

जैसे ही आप स्कैन करते आपका eSIM का रजिस्ट्रेशन कन्फर्म हो जाएगा और कुछ ही देर में आपका एयरटेल का नॉर्मल फिजिकल सिम कार्ड eSIM में कन्वर्ट हो जाएगा।

VI eSIM की Physical SIM को eSIM में कन्वर्ट कैसे करें (How to Convert Physical Sim to eSIM VI in Hindi)

VI की साधारण सिम ई-सिम में कन्वर्ट करने के लिए नीचे बताए गए स्टेप्स फॉलो करें।

  • वोडाफोन आइडिया, जिसके अब VI के नाम से जाना जाता है फिलहाल केवल पोस्टपेड ग्राहकों को ही ई-सिम की सुविधा दे रहा है।
  • VI की Physical SIM को eSIM में कन्वर्ट करने के लिए नीचे बताए गए स्टेप्स फॉलो करने होंगे।
  • सबसे पहले मेसैज बॉक्स में जाकर eSIM टाइप करें और फिर इसके बाद स्पेस देकर अपनी रजिस्टर्ड ईमेल आईडी लिखकर 199 पर यह sms सेंड करें।
  • अब आपको उस नम्बर की ओर से एक एसएमएस प्राप्त होगा।
  • SMS के रिप्लाई में ESIMY लिखकर इसे सेंड करके इसे कंफर्म करें।
  • Reply करने के कुछ समय बाद ही आपके नंबर पर एक confirmation call प्राप्त होगा और आपसे eSIM एक्टिवेशन के लिए सहमति मांगी जाएगी, तो इसे कन्फर्म करें।
  • अब अपनी रजिस्टर ई-मेल आईडी पर प्राप्त हुए QR कोड को स्कैन करें।

eSIM activate कैसे करें (How to Activate eSIM in Hindi)

अगर आप नई ई सिम लेते है, तो उसे एक्टिवेट करने के लिए आपको अलग प्रक्रिया का अनुसरण करना होता है। अलग-अलग स्मार्टफोन में eSIM activate करने के लिए अलग-अलग सेटिंग होती है। यहाँ हमने कुछ ऐसे स्मार्टफोन्स के बारे में बताया है, जिनका उपयोग बहुत ज्यादा किया जाता है।

आईफोन में ई सिम एक्टिवेट कैसे करें (How to Activate Jio eSIM for Apple iPhone Models in Hindi)

  • सबसे पहले यह सुनिश्चित करें कि आपके फोन में iOS version 12.1 या फिर इससे ज्यादा हो, तभी आप Jio eSIM connection ले सकते हैं।
  • अब फोन की सेटिंग्स में जाएं और EID व IMEI के लिए About phone पर क्लिक करें।
  • इसके बाद GETESIM लिखें <32 Digit EID> <15 Digit IMEI> को अपने आईफोन मॉडल से 199 पर भेजें।
  • अब आपको एक 19 डिजिट वाला eSIM नंबर और eSIM प्रोफाइल कॉन्फिग्रेशन डिटेल्स रिसीव होंगी।
  • अब SIMCHG <19 digits eSIM number> को 199 पर SMS करें।
  • दो घंटे बाद आपको eSIM प्रोसेसिंग का अपडेट प्राप्त होगा।
  • मैसेज प्राप्त होने के बाद 183 पर ‘1′ भेजकर इसे कंफर्म करें।
  • अब आपको आपके जियो नंबर पर एक ऑटोमेट कॉल आएगा, जिसमें आपसे 19 डिजिट वाला ईसिम नंबर मांगा जाएगा।
  • नए ई-सिम एक्टिवेशन की पुष्टि आपको SMS के जरिए की जाएगी।
  • अब ईसिम प्रोफाइल को आपने आईफोन में कॉन्फ़िगर करना होगा, जिसके लिए सेटिंग्स में जाकर Mobile Data पर क्लिक करें।
  • इसके बाद Add Data plan पर टैप करें और ईसिम प्रोफाइल कॉन्फिग्रेशन डिटेल्स में आए एक्टिवेशन कोड को यहां इंटर करें।
  • एक्टिवेशन कोड डालने के बाद ऊपरी दायीं ओर मौजूद Next पर क्लिक कर दें।
  • अब Add Data plan पर फिर टैप करें।
  • इसके बाद अपने अनुसार Data Plan लेबल्स को चुने और अपने देश को चुनें।

अब आपकी ई-सिम सफलतापूर्वक एक्टिवेट हो चुकी है।

सैमसंग फोन्स में ई सिम एक्टिवेट कैसे करें (How to Activate Jio eSIM for Samsung Phone in Hindi)

  • सबसे पहले अपने फोन की Setting में जाए और फिर वहां पर दिख रहे connection के ऑपशन पर क्लिक करें।
  • इसके बाद SIM card manager पर क्लिक करें।
  • फिर Add mobile plan पर क्लिक करें।
  • अब Scan Carrier QR code को select करें।
  • फिर enter code पर क्लिक करें।
  • Activation code तो हमें LPA:1$ smdprd.jio.com$ format में enter करना है, जिसके बाद हमें 32 digit या number का activation code इसके जरिए हम को मिलेगा। अब हमें connect पर click करना है।
  • और अंत में Reliance Jio eSIM Activate हो जाएगा जो हमारे Sim Card Manager में दिखेगा।

मोटोरोला फोन्स में ई सिम एक्टिवेट कैसे करें (How to Activate Jio eSIM for Motorola Phone in Hindi)

  • फोन की Settings में जाएं और Network & Internet को चुनें।
  • अब Mobile network पर जाएं Carrier पर टैप करें और फिर Add Carrier पर
  • अब मेल पर आए QR कोड को स्कैन करें और प्रक्रिया पूरी होने के बाद Download पर टैप करें।
  • Done पर क्लिक करें और eSIM को एक्टिवेट करें।

गूगल फोन्स में ई सिम एक्टिवेट कैसे करें (How to Activate Jio eSIM for Google Phone in Hindi)

  • सबसे पहले फोन की सेटिंग्स में जाए और Network & Internet के ऑपशन पर क्लिक करें।
  • यहाँ दिख रहे Mobile network के ऑपशन को सेलेक्ट करें और Download a SIM पर क्लिक करें।
  • अब Next पर क्लिक करें और मैनुअली एक्टिवेशन कोड डालें।
  • इसके बाद Enter it manually पर क्लिक करें।
  • अब Activation code को LPA:1$smdprd.jio.com$ के फॉरमेट में enter करें, अब आपको SMS के जरिए 32 डिजिट का एक एक्टिवेशन कोड प्राप्त होगा।
  • अब Activate को चुने और Done पर टैप कर दें।
  • इस तरह आपकी Jio eSIM एक्टिवेट हो जाएगी।

ऊपर बताई गई जानकारी की सहायता से आप अपने स्मार्टफोन में सेटिंग्स चेंज करके eSIM को एक्टिवेट कर सकते है। अब आइये जानते है, ई सिम एक्टिवेट करते समय किन-किन बातों का ध्यान रखना आवश्यक है?

eSIM को एक्टिवेट करते समय याद रखने योग्य मुख्य बिंदु

eSIM एक्टिवेट करते समय आपको नीचें बताई गई कुछ बातों का खास ख्याल रखना होता है।

  • सबसे पहले सुनिश्चित करें कि आपका फोन में इंटरनेट कनेक्ट हो।
  • फोन की सेटिंग्स में ‘Remove Data Plan’ या ‘Erase Plan’ के विकल्प का चयन न करें, ऐसा करने से आपकी eSIM प्रोफाइल स्थायी रूप से डिलीट हो जाएगी। यदि कभी गलती से आप ऐसा कर देते हैं तो पहचान प्रमाण पत्र और एक पासपोर्ट फोटो के साथ सम्बन्धित सिम के स्टोर पर जाकर उसे चालू करा सकते हैं।
  • सभी डिवाइस में eSIM Activation के लिए अलग-अलग सेटिंग्स होती है।
  • eSIM Activation Code हर बार अलग होता है और इसे एक ही बार उपयोग में लाया जा सकता है।

ई-सिम के फायदे क्या है?

किसी साधारण सिम कार्ड की तुलना में eSIM का यूज करना बेहद आसान है और इसके कई सारे फायदे भी है जो किसी यूजर को इसका उपयोग करते समय प्राप्त होते है। eSIM के उपयोग से होने वाले फायदे निम्नलिखित है।

  • एक ही eSIM का उपयोग आप एक से अधिक डिवाइस में कर सकते हैं।
  • eSIM साधारण sim card के तुलना में अधिक सुरक्षित होता है।
  • अगर आपका फोन गुम भी जाए तो इससे उसे आसानी से ट्रैक किया जा सकता है क्योंकि अपराधी किसी साधारण सिम कार्ड की तरह eSIM Card को नहीं निकाल सकता और ना ही उसे आपकी जानकारी के बिना disactivate कर सकता है।
  • ऑपरेटिंग डिवाइस बदलने पर सिम कार्ड switch करने की जरूरत नहीं होती है।
  • एक साधारण सिम कार्ड को फोन में से कोई भी बड़ी आसानी से चुरा सकता है जबकि eSIM Card को कोई नहीं चुरा सकता।
  • eSIM का उपयोग करने से regular traveling करने वाले travelers को भी अनेकों फायदे मिलते हैं, जैसे कि अगर उन्हें किसी अन्य देश में घुमने जाना हो तो उन्हें पुराणी सिम एक्सचेंज नहीं करना पड़ता इसके अलावा उन्हें roaming charges से भी छुटकारा मिलता है और वह बड़ी आसानी से इसे जब चाहें जिस डिवाइस में चाहें एक्टिवेट कर सकते हैं।
  • फोन पानी में भीगने या ओवरहीट होने से कई बार इसका प्रभाव सिम कार्ड पर भी पड़ता था और वह काम करना बंद कर देता था लेकिन ई-सिम पर फोन पानी में भीगने या ओवरहीट होने से किसी प्रकार का प्रभाव नहीं पड़ता है।
  • यदि आप नया eSIM लेना चाहते हैं तो इसके लिए आपको नया SIM card लेने की कोई जरुरत ही नहीं है आप बस ऑपरेटर से कॉन्टेक्ट करके कुछ सिम्पल प्रोसेस करके इसे आसानी से change कर सकते हैं।
  • नया सिम लेने और उसे activate करने के लिए पुराने sim को deactivate होने तक का इंतजार नहीं करना पड़ता।
  • यह SIM card phone के साथ embedded होता है इसलिए ये subscriber के सारे information को store किये हुए होता है जो की mobile subscriber को identify और authenticate करने के लिए जरुरी होता है।

eSIM के नुकसान क्या है?

हर सिक्के के दो पहलु होते हैं। ठीक उसी प्रकार एक तरफ eSIM अनेकों फायदे हैं तो वहीँ दूसरी तरफ इसकी कुछ खामियाँ भी हैं। आइये जानते हैं, eSIM की कुछ ऐसी ही कमियों के बारे में।

  • अगर किसी कारण आपकोअपनी eSIM को किसी अन्य डिवाइस में ऑपरेट करना पड़े और आपको उससे कोई emergency call करना हो तो इसमें आपको थोड़ी दिक्क्तों का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि eSIM activate होने में थोडा समय लगता है। आप साधारण सिम कार्ड की तरह तुरन्त ही इसका उपयोग नहीं कर पायेंगे।
  • यदि आप एक से अधिक devices में एक ही eSIM का यूज करते हैं तो बदलते समय आपको दिक्क्तों का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि आपको नए eSIM को activate कराने और पुराने sim को deactivate कराने के लिए connected device के software की आवश्यकता पड़ती है। ऐसी स्थिति में आप confuse हो सकते हैं।
  • नए eSIM को activate करने या पुराने eSIM को किसी अन्य डिवाइस में ऑपरेट के लिए आपको operator से कॉन्टैक्ट करना पड़ता है और उनके द्वारा बताए गए user id और password का उपयोग करके ही आप eSIM को activate कर सकते हैं।

eSIM की कुछ खास बातें

eSIM एक साधारण सिम कार्ड की तरह ही काम करता है। यह वह सभी सर्विस उपलब्ध कराता हैं, जो किसी साधारण सिम कार्ड में मौजूद होती है लेकिन इसकी कुछ खास बातें हैं जो इसे एक साधारण सिम से अलग बनाती है। आइए जानते हैं ऐसी ही कुछ खास बातों के बारे में।

  • eSIM की सबसे खास बात यह है कि आप इसे एक साथ कई सारी डिवाइस में connect कर सकते है। मान लीजिए आपके पास smartphone और smartwatch भी है तो आप इन दोनों को ही एक ही eSIM से connect कर सकते हैं, जबकि साधारण सिम कार्ड को आप केवल किसी एक डिवाइस में ही चला सकते हैं और उसके लिए आपको सिम को उस डिवाइस में डालना पड़ता है।
  • eSIM एक वर्चुअल सिम होता है जो पहले से ही डिवाइस अन्दर एक चिप के रूप में लगा होता है। इसी कारण इसके लिए सिम स्लॉट की भी कोई जरूरत नहीं होती है।
  • ई-सिम खरीदने का तरीका भी साधारण सिम कार्ड की तुलना में अलग और आसान होता है।
  • ई-सिम को एक्टिवेट करने का तरीका भी साधारण सिम तुलना में बहुत अलग होता है जो कि हर कंपनी के फोन ओर उसके मॉडल के हिसाब से चेंज होता है। आप बस एक नंबर पर मैसेज और कॉल करके खुद ही घर बैठे इसे एक्टिवेट करा सकते हैं।
  • यदि आप किसी अन्य मोबाइल फोन में अपनी eSIM ऑपरेट करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको साधारण सिम कार्ड की तरह एक फोन से सिम निकालकर दूसरे फोन में डालने की जरूरत नहीं पड़ेगी। बस आपको अपने ई-सिम के ऑपरेटर से कॉन्टैक्ट करना होता है और उसके द्वारा बताए गए user id और password का उपयोग करके आप चाहें उस डिवाइस में अपनी ई-सिम को एक्टिवेट कर सकते हैं।
  • eSIM में remote provisioning का फीचर उपलब्ध होता है इसके कारण यदि आप अपने पुराने सिम को बंद करवाकर नया सिम एक्टिवेट करवाते हैं तो आपका नया eSIM कुछ ही देर में को आसानी से activate हो जाता है और आपको पुराने sim को deactivate होने तक का इंतजार नहीं करना पड़ता।
  • eSIM card पहले ही phone के साथ embedded होता है इसमें यूजर की सारी information store होती है जो की mobile user की identify और authenticate करने के लिए बेहद आवश्यक होती है।

FAQ: eSIM से जुड़े सवाल जवाब

क्या हर मोबाइल में eSIM का उपयोग किया जा सकता है?

नहीं, किसी मोबाइल फोन में eSIM का उपयोग करने के लिए यह आवश्यक है कि आपका मोबाइल फोन eSIM support करने की क्षमता रखता हो।

क्या एक फोन में एक eSIM का यूज करने के बाद उसमें दूसरी eSIM का यूज नहीं कर सकते हैं?

ऐसा बिलकुल नहीं है, जिस प्रकार आप साधारण सिम को बदलते थे उसी प्रकार एक eSIM को बदलकर दूसरी eSIM का यूज भी कर सकते हैं। इसके लिए बस आपको अपने मोबाइल में कनेक्टेड पहले वाली eSIM को disactivate करना होगा और उसके बाद आप नई सिम को activate करके उसे यूज कर सकते है।

क्या एक फोन में एक बार eSIM का यूज करने के बाद उसमें साधारण सिम का यूज नहीं कर सकते हैं?

ऐसा नहीं है, अगर आप किसी फोन में एक बार eSIM का यूज कर लेते हैं तो भी उसके बाद आप अपने मोबाइल में कनेक्टेड पहले वाली eSIM को disactivate करके उसके सिम स्लॉट में साधारण सिम डालकर उसका यूज कर सकते है।

क्या eSIM का उपयोग करने के लिए इंटरनेट जरूरी है?

जी नहीं, eSIM का उपयोग करने के लिए इंटरनेट की कोई आवश्यकता नहीं होती है। आप बिना इंटरनेट के भी इसका उपयोग कर सकते है।

Conculsion

भविष्य में eSIM नॉर्मल सिम की जगह ले लेगी, लेकिन अभी केवल कुछ ही टेलिकॉम कम्पनियाँ है, जो ई सिम उपलब्ध कराती है और स्मार्टफोन्स के केवल कुछ मॉडल्स ही इन्हे सपोर्ट करते है। उम्मीद है आपको हमारा यह आर्टिकल eSIM kya hai पसन्द आया होगा। अगर आपका eSIM से जुड़ा कोई सवाल है तो आप कमेन्ट करके पूछ सकते है। साथ ही इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करना न भूलें।

Leave a Reply