Robot Kya Hai और इसके प्रकार, उपयोग, फायदे पूरी जानकारी।

  • Post author:
  • Post category:Technology
  • Post comments:0 Comments
  • Reading time:21 mins read
You are currently viewing Robot Kya Hai और इसके प्रकार, उपयोग, फायदे पूरी जानकारी।

आज तक आपने कई बार रोबोट के बारे में सुना होगा, कई तरह की बॉलीवुड और हॉलीवुड फिल्मों में भी इन्हें देखा होगा। लेकिन क्या आप जानते है कि असल में Robot Kya Hai और इसकी बनावट किस तरह की होती है, यह किस तरह काम करता है आदि। अगर आप इस बारे में बिल्कुल नहीं जानते या फिर अपने ज्ञान को ओर बढ़ाना चाहते है तो हमारी आज की यह पोस्ट आपके लिए ही है। आज की पोस्ट में हम रोबोट्स से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातों के बारे में जानकारी देंगे। जैसे कि रोबोट को हिन्दी में क्या कहते है, इसकी परिभाषा, प्रकार, विशेषताओं के अलावा यह किस तकनीक पर काम करते है, इनसे होने वाले फायदे, नुकसान और भविष्य में इनकी स्तिथि आदि के बारे में।

भविष्य में रोबोट का इस्तेमाल बहुत ही बढ़ने वाला है, आने वाला समय एडवांस टेक्नोलॉजी का समय है। इसलिए आपको इसके बारे में जरूर जानना चाहिए। लेकिन इससे पहले कि आप जाने रोबोट क्या है (what is robot in hindi) आपको इसका हिन्दी अर्थ जानना चाहिए। आइये जानते है, रोबोट का हिन्दी अर्थ के बारे में (Robot Meaning in Hindi)

रोबोट का हिन्दी अर्थ (Robot Meaning in Hindi)

रोबोट को हिन्दी में “यंत्रमानव” होता है। यंत्रमानव संस्कृत भाषा का शब्द है। इसका अर्थ मनुष्य की आकृति वाले और उसी की तरह काम करने वाली स्वचालित यंत्र अर्थात मशीन से है।

रोबोट की परिभाषा (Definition of Robot in Hindi)

वैसे तो अभी तक कोई भी ऐसी परिभाषा सामने नहीं आई है जो रोबोट और उसकी विशेषताओं का पूरी तरह से वर्णन कर पाए। फिर भी हमने यहाँ एक परिभाषा दी है जिसके द्वारा आप रोबोट को परिभाषित कर सकते है।

“रोबोट आर्टिफिशियल टेक्नोलॉजी पर आधारित एक स्वचालित मशीन है जो जटिल क्रियाएं भी शुद्धता और गति के साथ करने में सक्षम है। इन्हें मानव या बाहरी डिवाइस द्वारा कन्ट्रोल किया जाता है।”

रोबोट क्या है (What is Robot in Hindi)

साधारण शब्दों में कहे तो रोबोट एक ऑटोमेटिक मैकेनिकल डिवाइस है। रोबोट आर्टिफिशियल टेक्नोलॉजी के आधार पर काम करता है। यह आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के द्वारा कार्य करती है यह एक तरह की मशीन है जो स्वचालित रूप से सभी तरह के कार्यों को करने में सक्षम होती है। रोबोट को एक तरह की मशीन कहा जा सकता है जो हमारे द्वारा दिए गए निर्देशों को कम्प्यूटर के माध्यम से ग्रहण करता है। रोबोट को इंसानों की तरह दिखने वाला भी बनाया जा सकता है और यह ज़रुरी नहीं की रोबोट को एक ही रूप दिया जाये। इन्हें इनकी आवश्यकता के अनुसार आकार और साइज़ दिया जा सकता है। बहुत से रोबोट को कंट्रोल करने के लिए एक्सटर्नल कन्ट्रोल डिवाइस का उपयोग करते है।

रोबोट आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर आधारित एक मानव निर्मित मशीन है। रोबोट एक ही समय में एक से अधिक काम करवा सकते है। रोबोट वह काम भी आसानी से कर लेता है जो किसी मनुष्य के लिए करना आसान नहीं है। यह खास तौर पर कम्प्यूटर के द्वारा डाले गए प्रोग्राम या निर्देशों के आधार पर काम करता है। रोबोट मैकेनिकल, सॉफ्टवेयर और इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग के मिश्रण से मिलकर बना हुआ होता है हालांकि इसकी संरचना मानव की तरह नहीं हो सकती और ना ही इसके अंदर मानव की तरह भावनाएं पैदा की जा सकती हैं रोबोट को एक उद्देश्य के लिए बनाया गया है इसलिए इसकी दिखावट और गति को कुछ इस तरह से बनाया गया है ताकि यह किसी उद्देश्य को लेकर काम कर सके।

यह भी जाने:

Metaverse क्या है?

Android क्या है?

E Cigarette क्या है?

रोबोट के प्रकार (Types of Robots)

रोबोट्स को मुख्य रूप से पांच भागों में बांटा गया है जो कि निम्नलिखित है।

Pre-Programed Robots

Pre-Programed Robots (पूर्व क्रमादेशित रोबोट्स) वह रोबोट्स है, जिनके प्रोग्राम में प्रोग्रामर को पहले से निर्देश सेव करके रखते है, कि रोबोट को क्या करना है? यह पूरी तरह नियन्त्रित होते है। इसलिए यह रोबोट्स अन्य रोबोट्स की तुलना में सटीकता के लिए जाने जाते है। यह आकार में काफी बड़े होते है और इनका इस्तेमाल अधिकांश ऑटोमोबाइल संयंत्रों में कारों के निर्माण में किया जाता है। बदलते पर्यावरण के अनुकूल इन्हें नई चीजों के बारे में शिक्षित भी किया जा सकता है।

Autonomous Robots

Autonomous Robots (स्वायत्त रोबोट्स) वह रोबोट होते है, जो पर्यावरण में होने वाले बदलाव के अनुकूल स्वयं निर्णय लेने में सक्षम होते है। स्वायत्त रोबोट्स को कन्ट्रोल करने के लिए किसी मानव की आवश्यकता नहीं पड़ती। इन्हें इस तरह से डिजाइन किया जाता है कि यह बिना किसी मानव ऑपरेटर के स्वतंत्र रूप से काम कर सकते है। इनमें सेंसर का उपयोग किया जाता है, जो बुद्धिमानी भरे निर्णय लेने में सहायता करते है। यह रोबोट्स लम्बे समय तक मानवीय हस्तक्षेप के बिना काम कर सकते है। बदलते पर्यावरण के अनुकूल इन्हें नई चीजों के बारे में शिक्षित भी किया जा सकता है। रूमबा वैक्यूम क्लीनर स्वायत्त रोबोट का एक अच्छा उदाहरण है, एक बार ऑन करने के बाद कन्ट्रोल करने की आवश्यकता नहीं पड़ती। वह स्वयं घूम-घूम कर घर की सफाई कर देता है।

Humanoid Robots

वह रोबोट जो मानव के जैसे दिखते हैं और उन्हीं की तरह व्यवहार करते है, “ह्यूमनॉइड रोबोट” कहलाते है। इस तरह के रोबोट्स का शरीर व चेहरा को मानव जैसा ही डिजाइन किया जाता है और इसमें फंक्शन भी इसी तरह के सेट किए जाते है कि वह मानव जैसी गतिविधियां करने में सक्षम हो। सोफिया नाम का एक ऐसा ही रोबोट जो कि कुछ समय पहले बहुत चर्चा में रहा था, ह्यूमनॉइड रोबोट का ही एक उदाहरण है।

Teleoperated Robots

टेलीऑपरेटेड रोबोट एक प्रकार के अर्ध-स्वायत्त रोबोट होते है, जिन्हें वायरलेस नेटवर्क के उपयोग से मानव ऑपरेटर द्वारा एक निश्चित दुरी से नियन्त्रित किया जाता है। इन रोबोट्स का उपयोग मुख्यतः सेना और मेडिकल क्षेत्रों में किया जाता है। यह रोबोट मानव ऑपरेटर के निर्देशानुसार काम करते है।

Augmenting Robots

Augmenting Robots (संवर्धित रोबोट) को वर्चुअल रोबोट के नाम से भी जाना जाता है। बॉट्स इसका एक अच्छा उदाहरण है।

अब जब आप रोबोट के प्रकार के बारे में जान गए है, तो आपको इनकी विशेषताओं के बारे में भी जान लेना चाहिए।

रोबोट की विशेषताएं क्या है?

एक रोबोट में कुछ सामान्य विशेषताएं पाई जाती है, जो कि इस प्रकार है।

  • जटिल कार्यों को आसानी से करना।
  • मल्टीटास्किंग करने में सक्षम।
  • स्वचालित होते है।
  • कम लागत में उपलब्ध।
  • सटीक कार्य करने में सक्षम।
  • तेजी से कार्य करने में सक्षम।
  • व्यवस्थित तरीके से कार्य का संचालन करना।
  • तनावपूर्ण स्थिति में भी कुशलता से कार्य करने में सक्षम।

आइये अब जानते है कि रोबोट किस तकनीक पर काम करता है।

रोबोट की तकनीक (The Technology of Robots)

रोबोट एक उन्नत, बुद्धिमान उपकरण है, जिनका उपयोग आजकल छोटे से लेकर हर बड़े काम में किया जाता है। यह रोबोटिक्स तकनीक पर काम करते है, जो रोबोट्स के डिजाइन, निर्माण रखरखाव एवं मरम्मत सभी के लिए आवश्यक है। रोबोटिक्स तकनीक में कर्मचारियों को रोबोटिक्स इंजीनियरिंग और रोबोटिक्स इंजीनियरों के मध्य बाँटा जाता है। रोबोटिक्स इंजीनियरिंग का कार्य आधुनिक रोबोट्स का निर्माण करना और उनमें नए अपडेट करना होता है, जबकि रोबोटिक्स इंजीनियर पहले से विकसित रोबोटिक्स इंजीनियरिंग की कमियों का पता लगाकर उनकी मरम्मत करते है।

विभिन्न क्षेत्रों में रोबोट के कार्य व भूमिका (Roles of a Robot)

शुरुआती दौर में रोबोट का उपयोग कुछ गिने-चुने क्षेत्रों में किया जाता था लेकिन समय के साथ-साथ इनके कार्यों और क्षेत्रों में वृद्धि होती गई। वर्तमान में रोबोट्स लगभग हर क्षेत्र में कार्यरत है और अहम भूमिका निभा रहे है। आइये जानते है इनके बारे में।

सार्वजनिक सुरक्षा में।

सुरक्षा क्षेत्रों में रोबोट्स एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। इनके द्वारा गम्भीर अपराधों पर रोक लगाई जा सकती है। केवल सेना ही नहीं बल्कि पुलिस बल भी संदिग्ध गतिविधियों पर नजर रखने और उनका पता लगाने के लिए इनका इस्तेमाल करते है। उदाहरण के रूप में ड्रोन व कैमरों से आशंका वाले क्षेत्रों पर नजर रखी जा सकती है और यदि कोई संदिग्ध गतिविधि होती है तो न केवल उसका पता लगा सकते है, बल्कि उसके द्वारा रिकॉर्ड फुटेज सबूत के तौर पर भी काम आ सकता है।

चिकित्सा क्षेत्र में।

आजकल चिकित्सा क्षेत्र में भी रोबोट्स का इस्तेमाल बड़ी तेजी से बढ़ रहा है। लेकिन अन्य क्षेत्रों की तुलना में चिकित्सा क्षेत्र में काम करने वाले रोबोट्स अधिक विश्वसनीय और मानव व भावनात्मक व्यवहार समझने वाले होने चाहिए ताकि वह रोगियों के साथ व्यवहार करते समय उन्हें शारीरिक या भावनात्मक रूप से आहत न करे।

इंजीनियरिंग क्षेत्र में।

इंजीनियरिंग क्षेत्र में भी रोबोट्स मुख्य भूमिका निभाते है। इंजीनियरिंग में मुख्यतः ह्यूमनॉइड रोबोट का इस्तेमाल किया जाता है। इनका मुख्य उद्देश्य मानव कर्मचारियों के सामने आने वाली जोखिम भरी गतिविधियों में कमी करना है, ताकि वह सुरक्षित तरीके से उच्च महत्व के कार्यों पर ध्यान केंद्रित कर सके। इनमें विशेषकर बड़े-बड़े रोबोट्स का इस्तेमाल किया जाता है।

इमारत निर्माण क्षेत्रों में।

बड़ी-बड़ी इमारतों के निर्माण में विशेषकर इस प्रकार की मशीनो का इस्तेमाल किया जाता है। इस तरह के कार्यों में विशेष सेंसरों वाले मशीनी रोबोट्स का उपयोग किया जाता है ताकि अधिक सटीक परिणाम प्राप्त हो।

अन्य क्षेत्रों में।

ऊपर बताए गए क्षेत्रों के अलावा अन्य क्षेत्रों जैसे कृषि, बैंकिंग व अन्य सेवा क्षेत्रों में भी रोबोट्स का विशेष रूप से इस्तेमाल किया जा रहा है। सभी क्षेत्रों में उनकी आवश्यकता के अनुसार अलग-अलग प्रकार के रोबोट्स का इस्तेमाल किया जाता है।

रोबोट के उपयोग क्या है (What is Uses of Robot in Hindi)

हम हमारी रोजमर्रा की जिंदगी में जाने-अनजाने कई कामों के लिए रोबोट का उपयोग करते है जिनके बारे में हमे पता भी नहीं होता। रोबोट के कुछ ऐसे ही उपयोग के बारे में हमने नीचे बताया है।

  • हम दैनिक जीवन में कई प्रकार के छोटे-छोटे रोबोट्स का इस्तेमाल करते है। इनमें मोबाइल, टीवी, लिफ्ट, ऑटोमेटिक दरवाजे, साफ-सफाई के लिए वैक्यूम क्लीनर जैसे रोबोट्स शामिल है। इस प्रकार के रोबोट्स ऊर्जा के आधार पर काम करते है।
  • औद्योगिक व इंजीनियरिंग क्षेत्रों जैसे वाहन निर्माण करने वाली कम्पनियों, इमारत निर्माण करने वाली कम्पनियों में भी रोबोट्स का इस्तेमाल किया जाता है।
  • आपदा प्रबंधन के समय लोगों को आपातकालीन स्तिथि में फसे लोगों को निकालने के लिए।
  • चिकित्सा क्षैत्र इलाज के लिए स्वचालित मशीनों का इस्तेमाल किया जाता है।
  • कृषि क्षेत्र में सिंचाई, जुताई आदि कार्यों में रोबोट्स का उपयोग किया जाता है।
  • सुरक्षा के लिए सैना व पुलिस बल भी ड्रोन्स व अन्य रोबोटिक हथियारों का इस्तेमाल किया जाता है।
  • स्पेस एजेंसियों में भी ग्रहों, उपग्रहों के अध्ययन के लिए व अन्य कार्यों के लिए विशेष रूप के रोबोट्स का उपयोग किया जाता है।

अब जब रोबोट्स के उपयोग के बारे में जान लिया है। आइये अब उनसे होने वाले फायदों के बारे में जानते है।

रोबोट के फायदे क्या है (Benefits of Robot in Hindi)

यदि एक व्यक्ति की जगह एक रोबोट से काम कराया जाए तो इसके कई फायदे होते है। इनमें से कुछ फायदे हमनेनीचे बताए है।

  • रोबोट एक समय में दो या दो से अधिक काम करने की क्षमता रखता है।
  • रोबोट के काम करने की गति मानव की गति से कई गुना अधिक होती है।
  • रोबोट द्वारा किए गए काम में गलती होने की आशंका न के बराबर होती है।
  • रोबोट की तेजी से काम करने की क्षमता समय की काफी बचत करती है।
  • बिना किसी दबाव और भय के काम करते है।
  • बीमार नहीं पड़ते।
  • रोबोट बिना थके लगातार काम करने की क्षमता रखते है।
  • खतरनाक कार्यों जहाँ मानवीय जोखिम हो, वहां लोगो के स्थान पर रोबोट्स से काम करवाकर जोखिम को कम किया जा सकता है।
  • एक कर्मचारी की तुलना में रोबोट की लागत कम होती है।
  • स्वचालित होने के कारण उत्पादकता को भी बढ़ाता है।
  • आपातकालीन और तनावपूर्ण स्तिथियों में भी सूझ-बुझ से कार्य करता है, जो मानव के लिए मुश्किल है।

रोबोट के फायदे जानने के बाद इनकी कमियों के बारे में भी जानना बहुत जरूरी है। आइये जानते है रोबोट की कमियाँ और उनसे होने वाले नुकसान के बारे में।

रोबोट से होने वाले नुकसान क्या है (Drawbacks of Robot in Hindi)

एक तरफ जहां रोबोट्स के इस्तेमाल से कई फायदे होते है, वही दूसरी ओर इनमें काफी सारी कमियाँ होती है। जिनके कारण यूजर को कई बार नुकसान भी उठाने पड़ते है। इनके बारे में नीचे बताया गया है।

  • रोबोट की लागत अधिक होती है, इसका खर्चा हर कोई वहन नहीं कर सकता है।
  • रोबोट के रख-रखाव में भी बहुत अधिक खर्चा आता है।
  • रोबोट में सोचने-समझने की क्षमता नहीं होती है।
  • रोबोट में किसी तरह की भावनाएं नहीं होती और इसी कारण यह कई बार लोगों को चोट भी पहुंचा सकते है।
  • रोबोट को चार्ज करने के लिए बिजली की आवश्यकता पड़ती है।
  • रोबोट में यह निश्चित नहीं कर सकता कि किया गया काम सही है या गलत। वह बस मनुष्य द्वारा दिए गए निर्देशों को फॉलो करता है।
  • एक रोबोट मनुष्य की तरह काम करके अनुभव प्राप्त नहीं कर सकता।
  • रोबोट के कारण मनुष्य लगातार असली और कमजोर बनता जा रहा है।
  • कई बार यह मशीने बड़ी दुर्घटनाओं का कारण बन जाती है।
  • आजकल कई जगह रोबोट मनुष्य की ले रहे है, इस कारण बेरोजगारी की समस्या भी बढ़ रही है।
  • अचानक खराबी आ जाने पर रिपेयरिंग में कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

रोबोट का भविष्य।

वर्तमान की स्तिथि देखते हुए और समय के साथ-साथ रोबोट्स के बढ़ते हुए इस्तेमाल को देखते हुए यह कहा जा सकता है कि आने वाले समय में आपको हर जगह रोबोट देखने को मिलेंगे। होटलों में, हॉस्पिटलों में, स्कूलों में, बैंकों में हर जगह आपको रोबोट्स काम करते हुए दिखाई दे सकते है। अभी भी कई देश ऐसे है, जहाँ इन इस तरह के सार्वजनिक स्थानों पर रोबोट्स का इस्तेमाल किया जा रहा है। जल्द ही भारत में भी आप सार्वजनिक स्थानों पर रोबोट को हर छोटे से बड़े काम करते हुए पाएंगे।

FAQ: रोबोट से जुड़े सवाल-जवाब

सोफिया क्या है?

सोफिया एक इंसानी रोबोट है, इसका निर्माण सन् 2016 में हॉगकॉग की “HANSON ROBOTICS” नामक कम्पनी ने किया। यह दिखने में और व्यवहार में बिल्कुल मानव की तरह है। यह पहला ऐसा रोबोट है, जिसे किसी देश की नागरिकता दी गई है। सोफिया रोबोट को सऊदी अरब की नागरिकता प्राप्त है।

भारत में बना मानवीय रोबोट कौनसा है?

भारत का मानवीय रोबोट “रश्मि” है, जो देखने और व्यवहार में मनुष्य के समान है। इस रोबोट का निर्माण सोफिया की तर्ज पर किया गया है। रश्मि विश्व का पहला एक रोबोट है, जो हिन्दी के अलावा अंग्रेजी मराठी और भोजपुरी भाषा बोल सकता है। यह न केवल लोगों के चेहरे की पहचान करता है, बल्कि उनकी तरह भावनात्मक व्यवहार करने में भी सक्षम है।

बॉट (Bot) क्या है?

बॉट एक प्रकार का रोबोटिक सॉफ्टवेयर है। यह एक प्रकार का कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर है, जो बिना किसी मानव ऑपरेटर के स्वयं ही कार्य करने में सक्षम है। चैटबॉट इसका एक मुख्य उदाहरण है। यह एक स्वचालित कम्प्यूटर प्रोग्राम होता है, जो ग्राहक सेवा का काम करता है।

Conclusion

उम्मीद है आपको हमारा यह आर्टिकल “Robot Kya Hai” अच्छा लगा होगा और आपको इससे बहुत कुछ सिखने को भी मिला होगा। आने वाले समय में आपको हर जगह रोबोट देखने को मिलेंगे। हर छोटे-बड़े काम इन्हीं के द्वारा किए जाएंगे। इसलिए यह बेहद जरूरी है कि आपको इनके बारे में जानकारी हो। यदि अभी भी आपके मन में कोई सवाल हो तो कमेन्ट करके पूछ सकते है। साथ ही इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले और ऐसी ही नई-नई जानकारी हिन्दी में प्राप्त करने के लिए हमारे ब्लॉग को फॉलो करे।

Share It

Leave a Reply