OTP Kya Hota Hai? What is OTP Meaning in Hindi - पूरी जानकारी

दोस्तों ऑनलाइन शॉपिंग करते समय, ऑनलाइन  बैंक से पैसा ट्रांसफर करते समय, किसी वेबसाइट एवं एप्प में रजिस्टर करते समय कई बार हमें  OTP का इस्तेमाल करना पड़ता है। लेकिन क्या आपको OTP क्या है और इसके बारे में पूरी जानकारी है? अगर आपका जवाब नहीं है तो आज का यह लेख आपके लिए ही है।

आज हम आपको OTP के बारे में विस्तार से बताएंगे। आज के इस आर्टिकल में आपको बताएंगे कि OTP Kya Hai और इससे जुड़ी सारी जानकारी आपको आज यहां मिलेगी। अगर आप भी OTP के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो इस आर्टिकल को ध्यानपूर्वक पूरा पढिये।


OTP क्या  है? What is OTP in Hindi


otp kya hai
What is OTP in Hindi


यह एक ऐसा पासवर्ड होता है, जिसे केवल एक ही बार उपयोग किया जा सकता है। यह एक प्रकार का सिक्युरिटी कोड होता है। इसका मुख्य उद्देश्य हमारे अकाउंट को हैकिंग से बचाना और डाटा को सैफ रखना है। इसमें 6 digits होते है, जो कि अधिकतर शब्दों में ही होते है, लेकिन कभी-कभी यह OTP शब्दों में या शब्द+अंक दोनों का मिक्स भी हो सकता है।

यह पासवर्ड आपके ईमेल आईडी पर या पंजीकृत नम्बर पर एक SMS के रूप में भेजा जाता है। कई OTP केवल 30-60 सेकंड के लिए ही मान्य होते है, लेकिन कई OTP 10-15 मिनट के समय तक भी मान्य रहते है।

यदि आप इसे तय टाइम में इसका उपयोग नहीं करते है, तो टाइम खत्म होने के बाद आपको दूसरा मंगवाकर इस्तेमाल करना होगा। दोस्तों ओ. टी. पी. सभी यूजर्स के लिए अलग होता है और हमें मिलने वाला OTP हर बार अलग-अलग होता है।


OTP की फुल फॉर्म (OTP Full Form in Hindi)

OTP की Full Form "ONE TIME PASSWORD" होती है। कई लोग इसे "ONE TIME PIN" भी बोलते है। 


OTP का हिन्दी अर्थ (OTP Meaning in Hindi) 

हिन्दी में ओ. टी. पी. (One Time Password) को "एक बार उपयोग होने वाला पासवर्ड" कहते है।


OTP कितने प्रकार के होते हैं (Types Of OTP in Hindi)

दोस्तों OTP Kya Hai यह तो हमें पता चल गया चलिए अब जानते हैं की ओटीपी कितने प्रकार के हो सकते हैं। ONE Time Password (OTP) तीन प्रकार का होता है। यह इन तीनों में से किसी भी तरह से आपको मिल सकता है। यह तीनों ही तरीके हम आपको नीचे बता रहे है।


SMS OTP Kya Hota Hai

यह सबसे अधिक उपयोग होने वाला तरीका है, जिसके जरिए वेबसाइट अपने यूजर्स को sms के जरिये otp भेजती है। यह sms आपके रजिस्टर्ड नम्बर पर भेजा जाता है। यह सबसे आसान तरीका है।


E-Mail OTP Kya Hota Hai

SMS OTP के अलावा आपको email के द्वारा भी otp प्राप्त हो सकता है। यह email आपकी  रजिस्टर्ड email id पर आता है। 


Voice Calling OTP Kya Hota Hai

इसमें आपको voice call करके ओ. टी. पी. बताया जाता है। बाकी तरह के ओ. टी. पी. की तरह ही इसमें भी आपको कॉल आपके रजिस्टर्ड नम्बर पर आता है। यह बहुत ही कम उपयोग आता है। ओ. टी. पी. प्राप्त करने के लिए आपको इस तरह की सर्विस आपको whatsapp के  रजिस्ट्रेशन करने के लिए या बैंक से जुड़े कामों के लिए प्रदान की जाती है।


OTP का उपयोग कहाँ-कहाँ होता है?

अपने यूजर्स की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए बैंक, ई-कॉमर्स साइट्स, सोशल साइट्स हो या फिर अन्य कोई वेबसाइट हो आजकल लगभग सभी के द्वारा ओ. टी. पी. का उपयोग किया जाता है। OTP क्या है यह तो आप जान गए चलिए अब आपको बताते हैं कि ऐसी कौन-कौन सी जगह है जहाँ पर ओ. टी. पी. का उपयोग किया जाता है।


इन्टरनेट बैंकिंग के लिए

इन्टरनेट बैंकिंग या दूसरे शब्दों में कहें तो नेट बैंकिंग के लिए ओ. टी. पी. का उपयोग किया जाता है। जब कोई व्यक्ति इन्टरनेट बैंकिंग के द्वारा अपने अकाउंट से किसी दूसरे के अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करता है, तो उसे अपनी बैंक आईडी, पासवर्ड, एटीएम पासवर्ड, CVV नम्बर आदि जैसी कई जानकारी देनी पड़ती है।

जब आप यह जानकारी ऑनलाइन फॉर्म में भर देते है, तो उसके बाद बैंक वेबसाइट की तरफ से आपको आपके रजिस्टर्ड नम्बर पर एक ओ. टी. पी. भेजा जाता है। फिर आपको इस One Time Password को वहाँ दिख रहे ओ. टी. पी. के खाली बॉक्स में डालना होता है। OTP सही होने पर ही आपका ट्रांजेक्शन सक्सेस होता है।

अगर आप गलत ओ. टी. पी. डालते है, तो यह प्रोसेस वही रुक जाती है इसलिए ओटीपी भरते समय ढंग से देख लें की OTP का नंबर क्या है। इसी तरह इन्टरनेट बैंकिंग से सम्बन्धित अन्य काम के लिए भी ओ. टी. पी. का यूज किया जाता है।


सोशल नेटवर्किंग साइट्स के लिए

Facebook, Whatsapp, Instagram, Gmail, Yahoo जैसी सोशल साइट्स भी अपने यूजर्स की सिक्युरिटी के लिए ओ. टी. पी. का उपयोग करती है। जब कभी आप  इस तरह की किसी सोशल साइट्स के अकाउंट में अपनी आईडी या पासवर्ड से संबंधित कोई बदलाव करते हैं, तो उस टाइम भी आपको इस तरह के otp code का उपयोग करना पड़ता है।


ई-कॉमर्स साइट्स के लिए

आजकल ऑनलाइन शॉपिंग का चलन है। इसमें समय की भी बचत होती है। इन्टरनेट बैंकिंग और सोशल नेटवर्किंग साइट्स के अलावा Amazon, Flipcart Myntra जेसी ई-कॉमर्स साइट्स भी अपने यूजर्स की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए ओ. टी. पी. का यूज करती है।

इस तरह की साइट्स से जब आप कोई सामान खरीदते है, तो आपके पास भुगतान करने के लिए दो विकल्प होते है, cash on delivery और online payment. यदि आप cash on delivery करते है, तो उसमें आपको सामान डिलीवर होकर आपके पास पहुंच जाता है। तब आपको भुगतान करना होता है।

लेकिन यदि आप ऑनलाइन पैमेंट   करते हैं, तो आपके पैमेंट को और डाटा को सुरक्षित रखने के लिए आपको आपके रजिस्टर्ड नम्बर पर एक ओ. टी. पी. नम्बर भेजा जाता है। इसका उपयोग करके आप अपना ऑर्डर बुक कर सकते है।


न्यू पासवर्ड सेट करने के लिए

जब आप किसी वेबसाइट या एप्प का पासवर्ड भूल जाते है, और forget password के विकल्प का उपयोग करते है, तो पहले आपको आपके रजिस्टर्ड नम्बर या ईमेल आईडी पर ओ. टी. पी. भेजा जाता है। फिर आप इसका उपयोग कर न्यू पासवर्ड सेट कर सकते है। 


Account Reactivation के लिए

कभी-कभी ऐसा होता है, कि किसी एप्प या वेबसाइट पर आप काफी समय बाद लॉगिन करते है, तो यूजर की पहचान करने और अन्य सिक्युरिटी कारणों के कारण भी ओ. टी. पी. का उपयोग किया जाता है। 


लॉगिन करते समय

गूगल,  अमेज़न, फिल्पकार्ट जेसी ई-कॉमर्स वेबसाइट तथा ओ. टी. पी. बैंक तथा Paytm, Free चार्ज जेसी अन्य डिजिटल वॉलेट सेवाएं प्रदान करने वाली वेबसाइट्स भी लॉगिन करते समय अपने यूजर्स की पहचान करने के लिए one times Password (otp) का उपयोग करती है। 


सिम कार्ड खरीदते समय

इसके अलावा अन्य छोटे - छोटे कामों जैसे नया सिम कार्ड खरीदते समय भी आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर OTP  भेजा जाता है। ताकि सिम कार्ड का प्रमाणिकरण हो जाए. और ग्राहक की पहचान  हो जाए।


ऑनलाइन भुगतान करते समय

दैनिक जीवन के अन्य कार्यों जैसे Electricity bill payment, Online railway ticket booking जेसे अन्य कामों के लिए Online payment करते समय भी otp का उपयोग किया जाता है।


ATM का उपयोग करते समय

जब कभी आप ATM पिन generate करते है या ATM का pin नम्बर चेंज करते है, तो भी आपके रजिस्टर्ड नम्बर पर sms के द्वारा आपको ओ. टी. पी. प्राप्त होता है।


अन्य जगह जहाँ OTP की आवश्यकता होती है

आपको आधार कार्ड डाउनलोड करना हो या फिर उसे अपडेट करना हो तो भी पहले आपको ओ. टी. पी. की वेरिफिकेशन प्रोसेस को पूरा करना होता है। 

यदि आप किसी Higher education के लिए ऑनलाइन आवेदन करते है या किसी scholarship के लिए ऑनलाइन आवेदन करते है। तब भी आपको रजिस्टर्ड नम्बर पर otp प्राप्त होता है। 

यहीं नहीं बल्कि Income Tex Return (ITR) फाइल करते समय भी आपका सत्यापन करने के लिए ओ. टी. पी. का उपयोग करा जाता है और इसके लिए जिस नम्बर का उपयोग किया जाता है, वह आधार से लिंक होना चाहिए। 

इनके अलावा ओर भी कई काम है, जिन्हें करते समय आपको ओ. टी. पी. की इस वेरिफिकेशन प्रक्रिया को पूरा करना होता है।


OTP का उपयोग क्यों जरूरी है

जेसा कि आप जानते है, कि आजकल सभी काम ऑनलाइन होने लगे है चाहें कोई भी काम क्यों ना हो। ऑनलाइन के इस दौर में ऑनलाइन क्राइम का भी बहुत खतरा रहता है। समय के साथ ऑनलाइन धोखाधड़ी, हैकिंग जेसै क्राइम में भी काफी बढ़ोतरी हुई है।

OTP उपयोग करने का मुख्य कारण यही है कि ऑनलाइन के इस दौर में आपको सेवा के साथ-साथ सेफ्टी भी प्रदान की जा सके। One time Password (OTP) डिजिटल लेनदेन के समय आपके डाटा को सुरक्षित रखने का एक जरिया है।

कई बार ऐसा होता है, कि हैकर कई आपके सोशल मीडिया अकाउंट्स, नेट बैंकिंग अकाउंट या किसी वेबसाइट से कहीं से भी आपकी आईडी, यूजर नेम ही नहीं बल्कि आपके पासवर्ड तक चुरा लेते हैं, और फिर उनका उपयोग करके क्राइम करते हैं। इस तरह की ऑनलाइन धोखाधड़ी को सायबर क्राइम बोला जाता है। ओ. टी. पी. आपको इन्हीं धोखाधड़ी से बचाने का काम करता है।

जैसे किसी ने कहीं से आपके अकाउंट की सारी जानकारी चुरा ली और अगर वो आपके अकाउंट से पैसे निकलने या किसी अन्य अकाउंट में ट्रांसफर करने का प्रयास करता है, तो पैसे ट्रांसफर से पहले बैंक की तरफ से आपको आपके रजिस्टर्ड नम्बर पर एक ओ. टी. पी. भेजा जाता है।

अब अगर यह otp हैकर को पता नहीं चलता है, तो वो ट्रांजेक्शन वहीं रुक जाता है। इस तरह से ओ. टी. पी. आपको साइबर क्राइम से सुरक्षा प्रदान करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।


ओटीपी के लाभ (Benefits of OTP in Hindi) 

One Time Password (OTP) के उपयोग से आपको कई तरह के फायदे होते है। यह आपको हर प्रकार की ऑनलाइन ठगी और धोखाधड़ी से बचाता है। ओ. टी. पी. का उपयोग करने से होने वाले फायदे कुछ इस प्रकार है।


सुरक्षित भुगतान - Online payment करते समय otp का उपयोग करने से आपका ट्रांजेक्शन भी सैफ रहता है।


यूजर का प्रमाणीकरण - क्योंकि otp आपके रजिस्टर्ड नम्बर या ईमेल आईडी पर आता है, तो इससे यूजर की पहचान आसानी से हो जाती है।


स्पैमर से सुरक्षा - otp आपके रजिस्टर्ड नम्बर या ईमेल पर आता है या फिर कॉल के द्वारा बताया जाता है, फिर आपको मिला हुआ OTP kya hai उसे सही जगह डालना होता है। इससे यह भी पता लग जाता है, कि उपयोग करने वाला व्यक्ति ही है या कोई रोबोट और साथ ही यूजर की पहचान भी हो जाती है।


हैकिंग से सुरक्षा -  यदि कभी कोई हैकर आपके किसी भी प्रकार के अकाउंट का डाटा या अन्य कोई डाटा हैक भी कर लेता है, तो भी वह उसका गलत उपयोग नहीं कर सकता। जब तक कि आपके रजिस्टर्ड नम्बर या ईमेल पर आया हुआ ओ. टी. पी. उसे पता नहीं लग जाता।


सुरक्षित अकाउंट - जब आप अपने किसी भी अकाउंट के पासवर्ड चेंज करते है, या कभी-कभी लॉगिन करते समय आपको वेबसाइट द्वारा ओ. टी. पी. भेजा जाता है। ताकि कोई ओर व्यक्ति उसका गलत उपयोग ना कर सके।


साइबर क्राइम से सुरक्षा - यह आपको हर प्रकार के साइबर क्राइम से बचाता है। जब तक कि आप किसी को अपने पास आया हुआ OTP क्या है नहीं बताएंगे तब तक कोई भी व्यक्ति आपके साथ धोखाधड़ी नहीं कर सकता।


OTP के नुकसान

1. अधिकतर वेबसाइट्स के अकाउंट की आईडी और पासवर्ड चेंज करने के लिए आपको ओ. टी. पी. की वेरिफिकेशन को पूरा करना होता है। ऐसे में अगर आपका फोन किसी गलत इंसान के हाथों में चला जाए, तो वह आपके नम्बर पर आये हुए ओ. टी. पी. का उपयोग करके कुछ गलत काम भी कर सकता है।

2. कई ऑनलाइन काम ऐसे होते है, जिन्हें करते समय आपको रजिस्टर्ड नम्बर पर sms otp भेजा जाता है। ऐसे में यदि आपका मोबाइल गुम गया हो या आपके पास ना हो तो आप उसे पूरा नहीं कर सकते है।

3. आपको अपना वह नम्बर हमेशा सुरक्षित रखना होता है, जो कि अपने कहीं भी ऐसी जगह है रजिस्टर्ड करा रखा हो जहाँ भविष्य में कभी भी otp का उपयोग करना पड़ सकता है।

4. कभी-कभी नेटवर्क प्रॉब्लम होने के कारण भी आपको ओ. टी. पी. प्राप्त होने में परेशानी आ सकती है।


Conclusion

तो दोस्तों उम्मीद है कि अब आपको ओ. टी. पी. के बारे में सारी जानकारी प्राप्त हो गयी होगी और आपको आपके सारे सवालों के जवाब जैसे कि  OTP की फुल फॉर्म, OTP क्या है, यह कितनी तरह के होते है, इसका उपयोग कहाँ-कहाँ होता है, क्यों जरूरी है, फायदे एवं नुकसान सभी के जवाब मिल गये होंगे।

इस लेख में हमने OTP के बारे में विस्तार से बताया है। अगर अभी भी आपके मन में OTP से संबंधित कोई सवाल है तो आप नीचे कमेंट करके हमसे साझा कर सकते हैं।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां